दिल्ली: हथियारबंद बदमाश बैंककर्मी से पांच लाख रुपए लूट ले गए

पूर्वी दिल्ली के पांडव नगर में कैश वैन से 5 लाख रुपए लूटने की घटना सामने आई है दोपहर 2.30 बजे के करीब पटपड़गंज रोड स्थित ई-ब्लॉक के एटीएम में वैन कैश डालने पहुंची थी

दिल्ली: हथियारबंद बदमाश बैंककर्मी से पांच लाख रुपए लूट ले गए

8 नवंबर को नोटबंदी का फैसला लागू होने के बाद से नए और पुराने नोटों को लूटने के मामले लगातार बड़ते जा रहे हैं। इसी बीच आज सोमवार को पूर्वी दिल्ली के पांडव नगर में कैश वैन से 5 लाख रुपए लूटने की घटना सामने आई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सोमवार को दोपहर 2.30 बजे के करीब पटपड़गंज रोड स्थित ई-ब्लॉक के एटीएम में वैन कैश डालने पहुंची थी। वही पुलिस इस मामले की छानबीन कर रही है। पुलिस अधिकारी ने मीडिया काे बताया कि बैंककर्मी वैन से पैसे निकालकर एटीएम की ओर बढ़ रहा थे तभी बाइक पर सवार तीन लोगों ने उससे बैग छीनने की कोशिश की। बैंककर्मी ने लुटेरों से बैग बचाने का प्रयास किया लेकिन वह विफल रहा। जिसके बाद उन हमलवारों में से एक ने डराने के लिए बंदूक निकालकर फायर किया और बैंककर्मी से बैग छिनने में कामयाब रहे।

पुलिस के मुताबिक उनमें से एक हमलावर ने हेलमेट पहन रखा था जबकि उसके दो अन्य साथियों ने मुंह पर मफलर लपेटा हुआ था। जानकारी के मुताबिक बैग में 5 लाख रुपए (2000 और 500 रुपए के नए नोट) की करेंसी थी। पुलिस ने घटनास्थल के आसपास स्थित दुकानों में लगे कैमरे के जरिए सीसीटीवी रिकॉर्ड्स स्कैन कर रही है।

उल्लेखनीय हैं कि कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में शनिवार रात को एटीएम मशीन में कैश डालने निकली वैन का ड्राइवर गाड़ी समेत 20 लाख रुपए लेकर फरार हो गया था। एटीएम वैन और गायब हुए कैश को रविवार सुबह दो अलग-अलग जगहों से बरामद किया गया। गाड़ी का ड्राइवर अभी भी फरार बताया जा रहा है। ड्राइवर की पहचान सिब्बन हुसैन नाम के शख्स के रूप में हुई है, जो असम का रहने वाला है और सिक्योर वैल्यू इंडिया नाम की कंपनी में काम करता है। इस कंपनी की जिम्मेदारी विभिन्न एटीएम में कैश पहुंचाने की थी। इससे पहले 23 नवंबर को भी एटीएम कैश वैन का ड्राइवर इसी तरह से गाड़ी लेकर फरार हो गया था। कैश वैन में एक करोड़ 37 लाख रुपए थे। वहीं, असम में एक कैश वैन पर अज्ञात लोगों ने हमला कर दिया था। इसमें एक की की मौत हो गई थी और वैन में रखा पूरा कैश लेकर फरार हो गए थे। पुलिस ने इसका शक उल्फा उग्रवादियों पर किया था।