अगस्ता घोटाला: त्यागी 30 दिसंबर तक न्यायिक हिरासत में

अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर सौदे में हुए घपले के मामले में पूर्व वायुसेना प्रमुख एस पी त्यागी को 30 दिसंबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा गया है...

अगस्ता घोटाला: त्यागी 30 दिसंबर तक न्यायिक हिरासत में

अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर सौदे में हुए घपले के मामले में पूर्व वायुसेना प्रमुख एस पी त्यागी को 30 दिसंबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। तीनों आरोपियों ने पटियाला हाउस कोर्ट में जमानत के लिए अर्जी दाखिल कर दी है। बता दें कि इससे पहले इस मामले में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने पूर्व एयर चीफ मार्शल एसपी त्यागी समेत तीन लोग को 14 दिसंबर तक सीबीआई की रिमांड पर भेज दिया था। त्यागी ने आरोप लगाए हैं कि यूपीए शासन काल में हुई इस डील में तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का ऑफिस भी शामिल था।


 इससे पहले स्थल सेना, वायु सेना और नौसेना के कई आला अफसरों पर तरह-तरह के आरोप लगे हैं, कई वरिष्ठ अधिकारी गिरफ्तार भी हुए हैं, लेकिन किसी सेना प्रमुख (मौजूदा या अवकाश प्राप्त) के गिरफ्तार होने की भारत में यह पहली घटना है। त्यागी 2004 से 2007 के बीच भारतीय वायुसेना के प्रमुख रहे। उनपर आरोप है कि 3600 करोड़ रुपये के इस सौदे में उन्होंने एयर चीफ मार्शल रहते हुए दलाली खाई थी।


भारत के सैन्य ढांचे के लिए इससे बड़ी शर्मिंदगी भला क्या हो सकती है? भारतीय सेना के अनुशासन और प्रफेशनलिज्म की मिसालें पूरी दुनिया में दी जाती रही है। पड़ोसी देशों के मुकाबले हमारी सेना का इतिहास इसकी पुष्टि करता है। हमारी तीनों सेनाओं ने हमेशा मर्यादा के अंदर रहकर काम किया है। लेकिन इसका यह अर्थ लगाना गलत होगा कि सेना के अंदर सब कुछ हमेशा ठीकठाक ही रहता है, वहां किसी तरह की गड़बड़ी नहीं होती। बीच-बीच में सेना के अंदर गंभीर गड़बड़ियों की शिकायतें ही नहीं, सबूत भी मिलते रहते हैं।