सपा में मचे घमासान पर ये क्या कह गए आजम खान

सपा में चुनाव के लिए उम्मीदवारों पर चल रहे विवाद पर आजम ने दुख जताया है। आजम ने दुख जताते हुए कहा कि ये पार्टी बहुत संघर्ष के बाद बनी है...

सपा में मचे घमासान पर ये क्या कह गए आजम खान


सपा में चुनाव के लिए उम्मीदवारों पर चल रहे विवाद पर आजम ने दुख जताया है। आजम ने दुख जताते हुए कहा कि ये पार्टी बहुत संघर्ष के बाद बनी है। आज जो कुछ हो रहा है वह इतिहास में बहुत खराब लफ्जों में लिखा जाएगा। क्‍या कहेगा जमाना, रिश्‍तों पर उंगली उठेगी, लोग लहू पर यकीन नहीं करेंगे। खून से खून जुदा होने लगा यह कौन सा इतिहास रचा हमने?



बता दें कि आजम ने सपा की आपसी लड़ाई को लेकर कहा कि ये आपसी कलह राज्य के लिए कितनी नुकसानदेह हो सकती है? यह सोचना चाहिए। आने वाला इतिहास हमें किस नाम और किस योगदान से याद रखेगा। हमें यह भी सोचना चाहिए। जीवन कुछ दिन का है, लेकिन इतिहास हमेशा पढ़ा जाएगा। आज जो कुछ हो रहा है उसे इतिहास के पन्नों में बहुत ही बूरा लिखा जाएगा। जमाना क्या कहेगा रिश्‍तों पर उंगली उठाई जाएगी। लोग खून के रिश्तों पर यकीन नहीं करेंगे। इतना ही नहीं लोग औलाद के नाम से नफरत करने लगेंगे, औलाद बाप के नाम से और चाचा भतीजे के नाम से। रिश्‍ते के बिगाड़ ने प्रदेश का मुकद्दर बिगाड़ दिया। यह बहुत घटिया बात है। शर्मिंदगी है हमें इस पर। कल क्या होगा यह हम नहीं जानते, लेकिन जो कुछ हुआ है वह समाजवादी पार्टी की बदनसीबी के सिवा कुछ नहीं है।



गौरतलब है कि आजम ने इस झगड़े के लिए अमर सिंह को जिम्‍मेदार ठहराते हुए कहा कि यदि एक ड्रम पानी में एक बूंद पेशाब की डाल दी जाए तो पूरा ड्रम पेशाब हो जाएगा। अब तक सुनते आए थे कि एक मछली पूरे तालाब को गन्दा कर देती है। इतने बड़े प्रदेश और पार्टी को एक शख्स के विचार की गंदगी ने बर्बादी पर लाकर खड़ा कर दिया है। आजम खान ने कहा कि पांच बरस कामयाबी के साथ काम करने वाली पार्टी नुक्ताचीनी का शिकार बनी हुई है। इस वजह से बीजेपी में जश्न मनाए जा रहे हैं और समाजवादी लोग मायूस हैं। बहुत दुख का दिन हैं। आज समाजवाद और लोकतंत्र अपनी दोनों आंख से आंसू बहा रहे हैं।