छत्तीसगढ़: उचित कीमत न मिलने पर किसानाें ने सड़काें पर फेंके टमाटर

छत्तीसगढ़ में टमाटर नहीं बिकने के कारण किसानों ने इसका विराेध करते हुए अपना गुस्सा जाहिर करते हुए बीते सोमवार को दुर्ग में फुट पड़ा। किसानों ने साजा धमधा स्टेट हाइवे पर 70 ट्रकों से भरा टमाटर सड़क पर फेंक दिया आैर टमाटर फेंककर धरना-प्रदर्शन किया।

छत्तीसगढ़: उचित कीमत न मिलने पर किसानाें ने सड़काें पर फेंके टमाटर

नोटबंदी के 50 दिन अब पूरे हाेने ही वाले है। नाेटबंदी के कारण छत्तीसगढ़ में किसानों का बुरा हाल है। हालात इतने खराब हैं कि टमाटर के दाम एक रुपये प्रति किलो तक गिर गए हैं। टमाटर नहीं बिकने के कारण किसानों ने इसका विराेध करते हुए अपना गुस्सा जाहिर करते हुए बीते सोमवार को दुर्ग में फुट पड़ा। किसानों ने साजा धमधा स्टेट हाइवे पर 70 ट्रकों मेें भरे टमाटर सड़क पर फेंक दिए आैर टमाटर फेंककर धरना-प्रदर्शन करने लगे।

मामला छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के धमधा इलाके का है। पूरे इलाके में टमाटर की उगाही करने वाले किसानों को उसका सही मूल्य नहीं मिल पा रहा है। इसी का विरोध करने के लिए किसानों ने यह अनूठा तरीका अपनाया और अपनी नाराज़गी जाहिर करते हुए लगभग 70 ट्रकों में भरे टमाटर सडको पर फेंक दिए। जहां एक तरफ टमाटरों के सड़क पर फेंके जाने से ट्रैफिक बाधित हुआ, वहीं दूसरी तरफ आस-पास के इलाकों में मौजूद लोग गया सड़कों पर पड़े टमाटर लूटने पहुंच गए। कई लोग सड़कों पर पड़े टमाटरों को अपने थैलों में भरकर ले गए।

दरअसल, जिले में टमाटर के दाम में अब तक की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई है और दाम 1 रुपये प्रति किलो तक गिर गए हैं। धमधा में बीते सोमवार को सब्जी उत्पादक किसानों ने प्रदर्शन कर सड़कों को टमाटर से लाल कर दिया। किसानों ने सड़कों पर कई ट्रैक्टर टमाटर फेंककर केंद्र सरकार के खिलाफ अपना आक्रोश जताया। सड़क पर टमाटर इतने फेंके गए थे, कि यातायात भी बाधित हो गए थे।

सब्जी उत्पादक अपने उत्पाद के लिए खरीदारों के अभाव एवं सही दाम नहीं मिलने से परेशान हैं। सब्जी उत्पादक किसानों ने सड़क पर यह टमाटर धमधा बस स्टैंड से फेंकना शुरू किया और सिलसिला जारी रखते हुए वे धमधा पुलिस थाने तक पहुंचे।

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में इस तरह से किसानों के नाराजगी जाहिर करने का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले दिसंबर महीने में ही जशपुर जिले में भी किसान इस तरह से सड़कों पर टमाटर फेंक अपना विरोध जता चुके हैं।