सेना को राजनीति में घसीटना गलत है: सीताराम येचुरी

पश्चिम बंगाल में टोल प्लाजा पर सेना की मौजूदगी को लेकर रक्षा मंत्री मनाेहर पर्रिकर और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बीच वाक्युद्ध काे लेकर माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि घसीटना गलत है।

सेना को राजनीति में घसीटना गलत है: सीताराम येचुरी

पश्चिम बंगाल में टोल प्लाजा पर सेना की मौजूदगी को लेकर रक्षा मंत्री मनाेहर पर्रिकर और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बीच वाक्युद्ध के बीच माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी और भाजपा सांसद बी सी खंडूरी ने आज कहा कि सेना को राजनीति में नहीं घसीटा जाना चाहिए। दोनों नेताओं ने यह भी कहा कि सेना को लेकर यदि कोई आपत्ति है उसे एक उचित मंच पर उठाया जाना चाहिए।

खंडूरी ने आगे कहा कि, ‘यह कुछ भी नया नहीं है  यह सभी सरकार की पुरानी अवधारणा और नीति है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है  सेना पूरी तरह से गैर राजनीतिक है। यह बहुत दुखद है कि राजनीतिक कारणों से उन्हें शामिल किया जा रहा है। आप अपनी लड़ाई लड़ें  आप बलों को क्यों शामिल करना चाहते हैं।’

ऐसी घटनाओं का सेना पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘वे दुखी अनुभव करते हैं और वे स्वयं कुछ नहीं कर सकते। यह बहुत ही खराब है। सभी राजनीतिक दलों को वर्दी वाले लोगों विशेष तौर पर सशस्त्र बलों को छोड़ देना चाहिए।’

उन्होंने कहा कि यदि कुछ आपत्तिजनक है तो विकल्प है, ‘प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री के पास जाइये और समस्या का समाधान करिये। मैं समझता हूं कि यह प्रचार के लिए किया जाता है।’ येचुरी ने कहा, ‘सेना को राजनीति में शामिल करना गलत है। यदि कुछ गलत होता है या आपको आपत्ति है तो उसे उचित मंच पर उठाइये।’