प्रदूषण-ट्रैफिकः डीटीसी बसों के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए किराए में भारी कमी

राजधानी दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण और ट्रैफिक को नियंत्रण करने के लिए दिल्ली सरकार ने डीटीसी बसों का किराया कम करने का फैसला कर सकती है।

प्रदूषण-ट्रैफिकः डीटीसी बसों के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए किराए में भारी कमी

राजधानी दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण और ट्रैफिक को नियंत्रण करने के लिए दिल्ली सरकार ने डीटीसी बसों का किराया कम करने का फैसला कर सकती है। पेरिस में सार्वजिनक परिवहन को पूरी तरह फ्री कर दिया गया है। उसी तरह दिल्‍ली सरकार भी सार्वजनिक परिवहन के किराए में बड़ी कटौती कर सकती है। किरायों में 50 फीसदी तक की कटौती का प्रस्‍ताव है। मंथली पास में 75 फीसदी तक कटौती किया जा सकता है। अगर प्रस्ताव स्वीकार कर लिया जाता है तो स्‍टूडेंट्स को फ्री पास दिया जायेगा। दिल्ली सरकार डीटीसी और क्लस्टर बसों का किराया 50 फीसदी तक कम करने पर विचार कर रही है। इस कदम के पीछे दिल्ली सरकार का लक्ष्य प्रदूषण को कम करने के लिए निजी वाहनों को हतोत्साहित करके सार्वजनिक परिवहन के इस्तेमाल को बढ़ावा देना है।

वर्तमान में दिल्‍ली में नॉन एएसी बसों का किराया 5 रुपये से 15 रुपए है जबकि एसी बसों में यह किराया 10 रुपए से 25 रुपए तक है। सरकार की स्‍कीम लागू होने के बाद दोनों बसों का किराया 5 रुपए से 10 रुपए हो जायेगा।

एक वरिष्‍ठ अधिकारी के हवाले से मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार इस मुद्दे पर सरकार एक या दो दिन में निर्णय करके घोषणा करेगी। नया किराया जनवरी से प्रभावी होने की संभावना है। सरकार का यह कदम उपराज्यपाल नजीब जंग द्वारा एसी और नॉन एसी बसों का किराया कम करके सार्वजनिक परिवहनों के इस्तेमाल को बढ़ावा देने की मांग के बाद आया है। बस का नया किराया डीटीसी और क्लस्टर दोनों बसों पर लागू होगा।

ज्ञात हो कि नॉन एसी बसों में अभी दैनिक पास 40 रुपए का है, जबकि एसी बसों में 50 रुपए का दैनिक पास बनाया जाता है। 1 से 31 जनवरी के लिए दोनों तरह की बसों में दैनिक पास 20 रुपए का हो जाएगा। मंथली पास में भी मौजूदा रेट्स में 75 फीसदी तक की बड़ी छूट देते हुए सरकार इन सभी बसों के लिए जनरल ऑल रूट पास 250 रुपए कर सकती है।