1 जनवरी से एटीएम से निकल सकते हैं 4,500 रूपए

एटीएम से एक जनवरी से 4,500 रूपए निकाल सकेंगे। हालांकि, पैसे निकालने की साप्ताहिक सीमा में कोई बढ़ोतरी नहीं की गयी है, जो एटीएम सहित एक व्यक्ति के लिए 24,000 रुपये है...

1 जनवरी से एटीएम से निकल सकते हैं 4,500 रूपए

नोटबंदी की वजह से लोगों को जितनी भी परेशानियों का सामना करना पड़ा है उससे आम आदमी को अब राहत मिलने वाली है। कैश की समस्या से निजात दिलाने के लिए आरबीआई ने कहा है कि 1 जनवरी से एटीएम में कैश निकालने की राशि को बढ़ा दिया जाएगा। जहां लोग अब तक एटीएम से सिर्फ 2,500 रूपए निकाल रहे थे वहीं एक जनवरी से 4,500 रूपए निकाल सकेंगे। हालांकि, पैसे निकालने की साप्ताहिक सीमा में कोई बढ़ोतरी नहीं की गयी है, जो एटीएम सहित एक व्यक्ति के लिए 24,000 रुपये है। एक अधिसूचना में केंद्रीय बैंक ने कहा कि स्थिति की समीक्षा के आधार पर एक जनवरी 2017 से एटीएम से पैसे निकालने की सीमा प्रतिदिन वर्तमान 2,500 रुपये से बढ़ाकर 4,500 रुपये किया जा रहा है।

बता दें कि पीएम मोदी के फैसले के अनुसार नौ नवंबर को 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को बंद किये जाने के बाद बैंक के साथ साथ एटीएम से पैसे निकालने की सीमा तय कर दी गयी थी। रिजर्व बैंक की विज्ञप्ति में आगे कहा गया है कि पैसे निकालने की साप्ताहित सीमा में कोई बदलाव नहीं किया गया है और इस तरह का वितरण ‘मुख्य रूप से 500 रुपये के नोटों में किया जाना चाहिए।

इससे पहले वित्त मंत्री अरूण जेटली ने कहा कि रिजर्व बैंक के पास और मुद्रा डालने के लिए नोटों का पर्याप्त भंडार है। वह इसकी आपूर्ति जारी रखेगा। बैंक और एटीएम से नकदी की कमी नहीं होगी।

गौरतलब है कि 30 दिसंबर से पुराने नोट जमा कराने की समय सीमा खत्म हो गई है। अब पुराने नोट सिर्फ आरबीआई में ही जमा हो सकते हैं और भी जमा न होने का कारण बता कर। 2016 की आधी रात से 1000 और 500  रुपये के पुराने नोटों की कानूनी मान्यता रद्द कर दी थी। सरकार के एक अध्‍यादेश के अनुसार अब अगर किसी के पास 10 से अधिक पुराने नोट पाये जाने पर 10,000 रुपये तक जुर्माना लगाया जायेगा। रिजर्व बैंक में पुराने नोट जमा करने की मियाद 31 मार्च 2017 है।

वहीं नोटबंदी के कदम को 50 दिन पूरे होने के बाद पीएम मोदी नये साल की पूर्व संध्या पर शनिवार को राष्ट्र को संबोधित कर सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक राष्ट्र के नाम संबोधन में पीएम मोदी नोटबंदी पर समर्थन जताने के लिए जनता का आभार जताने के साथ ही नोटबंदी के फायदे गिनवायेंगे। माना जा रहा है कि किसानों और मजदूरों के लिए भी कुछ एलान करेंगे।टी