25,000 रूपए तक का वेतन पाने वाले लोगों को मोदी सरकार का तोहफा

मोदी सरकार 25,000 रूपए तक की सैलरी लेने लोगों को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (र्इपीएफआे) में लाने का एेलान कर सकती है...

25,000 रूपए तक का वेतन पाने वाले लोगों को मोदी सरकार का तोहफा

केद्र सरकार अब 25,000 रूपए तक की सैलरी पान वालों को जल्द ही एक बड़ा गिफ्ट देने जा रही है। मोदी सरकार 25,000 रूपए तक की सैलरी लेने लोगों को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (र्इपीएफआे) में लाने का एेलान कर सकती है। मोदी सरकार के इस कदम के बाद सामाजिक सुरक्षा के दायरे में 50 लाख लोग आ सकते हैं। फिलहाल देश में करीब चार करोड़ लोग र्इपीएफआे के दायरे में आते हैं।

आपको बता दें कि अगर सरकार ये एेलान करती है तो इससे सबसे ज्यादा फायदा ज्यादातर आैपचारिक क्षेत्र के कर्मचारियों को मिलेगा। 19 दिसंबर को केन्द्रीय श्रम मंत्री बंडारू दत्ता़त्रेय की अध्यक्षता में केंद्रीय न्यसासी बोर्ड की बेंगलुरू में बैठक होनी है।

वहीं माना जा रहा है कि इसी बैठक में र्इपीएफआे की भविष्य निधि, समूह बीमा आैर पेंशन जैसी सामाजिक सुरक्षा कार्यक्रम के दायरे में लाने के लिए मासिक वेतन सीमा को बढ़ाकर 25000 रुपए के प्रस्ताव पर चर्चा हो सकती है। साथ ही इस निर्णय पर मुहर भी लग सकती है। साथ ही र्इपीएफआे सुविधाआें का लाभ फिलहाल 15000 रुपए मासिक वेतन पाने वाले लोगों ही उठा पा रहे थे।