तीसरे दिन भी नहीं छटा कोहरा, 70 ट्रेने लेट तो फ्लाइटों में देरी

कोहरे का असर सिर्फ सड़क यातायात या ट्रेनों पर ही नही बल्कि हवाई यातायात पर भी पड़ा है...

तीसरे दिन भी नहीं छटा कोहरा, 70 ट्रेने लेट तो फ्लाइटों में देरी

दिसंबर शुरू होते ही ठंड ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया था और अब लगातार तीसरे दिन भी कोहरे का कहर जारी है। दिल्ली के अलावा पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और पश्चिमी उत्तर प्रदेश सहित उत्तर भारत के ज्यादातर इलाकों में पारा लुढ़कने के साथ काफी कम दृश्यता देखी गई।जहां एक तरफ सड़कों पर वाहनों को दिक्कतों की समना करना पड़ रहा है।  तो वहीं ट्रनें भी देरी से चल रही हैं।

बता दें कि कोहरे का असर सिर्फ सड़क यातायात या ट्रेनों पर ही नही बल्कि हवाई यातायात पर भी पड़ा है। जेट एयरवेज ने अपने आधिकारिक बयान में कहा है कि खराब विजिबिलिटी के चलते विमानों के उड़ान भरने और दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंचने में काफी दिक्कत हो रही है। जिसकी वजह से उड़ानों में देरी हो रही है।

वहीं दिल्ली से कई राज्यों की ओर जाने वाली 12 ट्रेने कोहरे की वजह से प्रभावित हैं। जिसकी वजह से इनके समय में बदलाव किया गया है। वहीं, दिल्ली से जानें व आने वालीं 70 ट्रेनें देरी से चल रही हैं।

गुरुग्राम में घने कोहरे के चलते 9.30 बजे 16 ट्रेनें 2 से 5 घंटे की देरी से पहुंचीं। इनमें अहमदाबाद दिल्ली, राजकोट, जयपुर सराय रोहिल्ला, अजमेर निज्मुदीन,दिल्ली रेवाड़ी, बरेली भुज, मेरठ नई दिल्ली, इंटरसिटी, कालिंदी कुंज, डबल डेकर, जनता, बीकानेर, बन्द्रा चडीगढ़ एक्सप्रेस, ये ट्रेनें 9.40 तक 3 घंटे देरी से चल रही हैं।वहीं, मंडोर एक्सप्रेस ट्रेन 4.30 घंटे की देरी से पहुंची।

हालांकि, दिल्ली-एनसीआर में शुक्रवार सुबह कोहरे से थोड़ी राहत मिली है। आज सुबह विजिबिलिटी 100 से 200 मीटर के आसपास रही। ग्रेटर नोएडा, गुड़गांव, फरीदाबाद, गाजियाबाद, सोनीपत के कुछ इलाकों में जरूर घना कोहरा नजर आया। यहां पर विजिबिलिटी 50 से भी कम थी। यहां पर वाहन चालक धीरे-धीरे वाहन चलाने को मजबूर नजर आए। रेवाड़ी, गुड़गांव और सोनीपत के ज्यादातर इलाकों में विजिबिलिटी काफी कम होने की वजह से वाहन चालकों को दिक्कत पेश आ रही है। वहीं, एनसीआर के कुछ इलाकों में सुबह आठ बजे के बाद धूप निकलने से कोहरा ज्यादा देर नहीं ठहर पाया, जिससे कोहरे से परेशान रहने वाले वाहन चालकों को थोड़ी राहत मिली।