पतंजलि की ग्रोथ से फायदा उठाने वालों के लिए शानदार मौका

पतंजलि आयुर्वेद के बढ़ते विस्तार से फायदा उठाने की हसरत रखने वाले निवेशकों के पास शानदार मौका है।

पतंजलि की ग्रोथ से फायदा उठाने वालों के लिए शानदार मौका

बाबा रामदेव की अनलिस्टेड एफएमसीजी कंपनी पतंजलि आयुर्वेद के बढ़ते विस्तार से फायदा उठाने की हसरत रखने वाले निवेशकों के पास शानदार मौका है। निवेशक एस्सेल प्रॉपपैक पर फोकस कर सकते हैं। माना जाता है कि दुनिया की सबसे बड़ी लेमिनेटेड ट्यूब्स मैन्युफैक्चरर एस्सेल बाबा रामदेव की इकाई पतंजलि की ट्यूब पैकेजिंग की मैन्युफैक्चरिंग और पैकेजिंग करती है।

हालांकि, दोनों कंपनियों ने इस बारे में खुलकर कुछ नहीं बताया। एस्सेल के मैनेजिंग डायरेक्टर अशोक गोयल का कहना है कि पतंजलि हमारी बड़ी कस्टमर है। हालांकि गोपनीयता के कारण हम अपने कस्टमर्स से जुड़े किसी भी मुद्दे पर चर्चा नहीं कर सकते।'

पतंजलि के प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने कहा कि एस्सेल हमारे अहम वेंडर्स में से है। भविष्य में हमारे प्रॉडक्ट्स के लिए इस कंपनी पर विचार किया जाएगा।

एस्सेस ने हाल में लेमिनेटेड हेयर कलर ट्यूब पेश किया है, जो मौजूदा अल्युमीनियम ट्यूब का बेहतर विकल्प है। दरअसल, अल्युमीनियम ट्यूब में केमिकल के साथ रिएक्शन की आशंका होती है। ग्लोबल हेयर कलर पैकेजिंग का बाजार 1,000 करोड़ रुपये का है। फाइनैंशल इयर 2016 में कंपनी का रेवेन्यू 2,250 करोड़ रुपये रहा है। इसे और पतंजलि के बिजनेस को देखते हुए अगले 3-5 साल में एस्सेल की रेवेन्यू ग्रोथ 15 फीसदी सालाना रह सकती है।

एस्सेल दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी ट्यूब मैन्युफैक्चरिंग कंपनी अल्बिया के साथ हेयर कलर ट्यूब पेश करेगी।

एक्सपर्ट्स के अनुसार, इससे क्लाइंट्स को कॉस्मेटिक सेक्टर में तेजी से नई टेक्नोलॉजी की दिशा में आगे बढ़ने में मदद मिलेगी। इसकी सप्लाई आने वाले सपताह में शुरू होने की उम्मीद है। कई कैटेगरी में कंज्यूमर मार्केट के डिवेलपमेंट से प्रॉडक्ट की बाहरी पैकेजिंग की जरूरत बढ़ गई है। यह एस्सेल के लिए फायदे की बात है। पिछले 5 साल में उसके रेवेन्यू में 15 फीसदी सालाना की बढ़ोतरी हुई, जबकि नेट प्रॉफिट ग्रोथ 30 फीसदी तक रही। इस दौरान कंपनी के स्टॉक्स में 7 गुना की बढ़ोतरी हुई।