हरियाणा: पत्नी के अंतिम संस्कार के लिए पैसा जुटाने के लिए 5 घंटे बैंक की लाइन में लगा रहा बुजुर्ग

एक बुजुर्ग अपनी पत्नी मौत के बाद अंतिम संस्कार के लिए पैसा जुटाने के लिए 5 घंटे तक बैंक की लाइन में लगा रहा लेकिन उसे पैसा नहीं मिल पाया, जिसके बाद बुजुर्ग फूट-फूटकर रोने लगा।

हरियाणा: पत्नी के अंतिम संस्कार के लिए पैसा जुटाने के लिए 5 घंटे बैंक की लाइन में लगा रहा बुजुर्ग

केंद्र सरकार के पुराने बड़े नोटों पर प्रतिबंध के बाद से पूरा देश नकदी की समस्या से जूझ रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हरियाणा के पानीपत से एक ऐसा मामला सामने आया है, जो मानवीय संवेदनाओं को झकझोर देने वाला है। यहां एक बुजुर्ग की 74 वर्षीय पत्नी की मौत हो गई लेकिन उसके पास इतनी नकदी नहीं था कि वो अपनी पत्नी का अंतिम संस्कार कर सके। इसके बाद बुजुर्ग नकदी के लिए 5 घंटे तक बैंक की लाइन में खड़ा रहा लेकिन जब उसका धैर्य जवाब दे गया तो वह फूट-फूट कर रोने लगा।

बता दें कि गुरुवार को पानीपत के रहने वाले राजेंद्र पांडेय की पत्नी चंद्रकला की मौत हो गई। राजेंद्र के खाते में तो पैसे थे लेकिन उसके पास इतनी नकदी नहीं थी कि वो अंतिम संस्कार कर पाता। राजेंद्र सुबह 11 बजे से ही बैंक ऑफ बड़ौदा के बाहर लाइन में लगा था लेकिन 5 घंटे के बाद भी उसे अंदर जाकर पैसे निकालने का मौका ही नहीं मिला। इसके बाद राजेंद्र का धैर्य जवाब दे गया और वो फूट-फूट कर रोने लगा।

इसके बाद मौके पर मौजूद कुछ मीडियाकर्मियों ने मामले में हस्तक्षेप कर बैंक प्रशासन से बातचीच की जिसके बाद राजेंद्र को पैसे मुहैया कराए गए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राजेंद्र ने बताया कि उसने बैंक कर्मियों और बैंक के गेट पर मौजूद पुलिस वालों से भी मदद की गुहार लगाई थी लेकिन किसी ने उसकी मदद नहीं की।