हिंदुस्तान की पाई-पाई पर देश की जनता का हक है- पीएम मोदी

पीएम मोदी शनिवार को यूपी के मुरादाबाद जिले में परिवर्तन रैली को संबोधित किया। रैली में प्रधानमंत्री का भाषण सुनने के लिए हजारोंं की तादाद में लोग इकट्ठा ।

हिंदुस्तान की पाई-पाई पर देश की जनता का हक है- पीएम मोदी

यूपी में आगामी चुनाव से पहले पीएम मोदी ने शनिवार को मुरादाबाद जिले में परिवर्तन रैली को संबोधित किया और कहा कि देश से गरीबी को मिटाना है तो पहले बड़े राज्यों से गरीबी हटानी होगी। मोदी ने कहा कि यूपी से चुनाव इसलिए नहीं लड़ा कि पीएम बनूं बल्कि इसलिए कि यह सबसे बड़ा राज्य है। यहां पर गरीबी से लड़ाई लड़ना है, हिंदुस्तान से गरीबी को मिटाना है, इसलिए यहां से चुनाव लड़ा।

मोदी ने कहा, 'विकास होगा तो रोजगार आएगा, बच्चों को अच्छी शिक्षा मिलेगा। बुजुर्गों का अच्छा इलाज होगा। घर में बिजली और पानी मिलेगी। विकास हमारी प्राथमिकता है। मुरादाबाद जो पीतल के काम के कारण दुनिया में जाना जाता है उसके आस पास 1000 ऐसे गांव है जहां बिजली नहीं है। इन गांव से मुझे किसी ने चिट्ठी नहीं लिखी, कि आप यूपी के सांसद हो, अब यहां का काम करो। मैंने खुद अधिकारियों को बुलाया और पूछा कि कितने गांव है यहां पर जहां बिजली का खंभा तक नहीं लगा है। मुझे बताया गया कि 18000 गांव यूपी में ऐसे हैं जहां पर बिजली नहीं है।

पीएम मोदी ने पुरानी सरकारों पर हमला करते हुए कहा कि घोषणा करने वाली बहुत सरकारें देखी होंगी, लेकिन घोषणा करके काम करने वाली यह पहली सरकार है, जनता को काम का और पैसे का पूरा हिसाब दिया जा रहा है। मोदी ने कहा कि जो काम 70 साल में नहीं हुआ। उसको करने में कुछ समय लगेगा। मैंने 1000 दिन में यह काम पूरा करने की घोषणा की थी। अभी आधे दिन भी नहीं हुए हैं लेकिन 950 गांव में बिजली पहुंचाने का काम पूरा कर दिया गया है।

पीएम ने कहा कि जिस गांव में बिजली गई उस गांव में बच्चों की शिक्षा में बदलाव आएगा। मांओं को भी आराम होगा। गेहूं पीसने के लिए दूसरे गांव नहीं जाना होगा। बिजली से किसानों की पानी की समस्या दूर होगी। सरकारें घोषणाएं करने के लिए नहीं होती हैं, सरकारें घोषणाएं करने के बाद काम पूरा करने के लिए होती हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि भ्रष्टाचार इस देश की सर्वाधिक मुसीबतों की जड़ में है। भ्रष्टाचार को खत्म करना चाहिए। भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए कुछ लोग मुझे गुनाहगार कह रहे हैं। हिंदुस्तान की पाई-पाई पर देश के लोगों का हक है।

मोदी ने कहा कि हम तो फकीर आदमी है, झोला लेकर चल पड़ेंगे। ये भ्रष्टाचारी ज्यादा से ज्यादा क्या कर लेंगे। इस फकीरी ने मुझे गरीबों के लिए लड़ने की ताकत दी है। बैंकों का राष्ट्रीयकरण हुआ था, गरीबों के नाम पर हुआ था। लेकिन इस देश के गरीबों को बैंक के दरवाजे तक जाने का मौका नहीं मिला। नोटों के बंडल छिपाकर रखे हुए थे, अब इसकी जांच हो रही है।

पीएम मोदी ने कहा कि नोटबंदी के बाद अमीर गरीब के पैर पकड़ रहा है। बैंक में वो जा नहीं सकते है। बेईमान लोग गरीबों के घर के बाहर कतार लगाए हुए। गरीब और ईमानदार लोग बैंकों के सामने लाइन लगाए हुए हैं। जनधन खाता लोगों के काम आ रहा है। पहले चीनी, मिट्टी के तेल के लिए लाइन में लोगों का लगना पड़ता था। लेकिन अब यह सब कतारें समाप्त हो गई हैं।

मोदी ने कहा कि 'जनधन खातों में जो भी पैसे आए उनको वहीं रखना। मैं इसे सही करने में लगा हूं। गरीबों को लूटकर यह पैसा इकट्ठा किया गया है। नोटबंदी के बाद से कई लोगों के चेहरे से रौनक चली गई है। अब वे पूरा दिन मोदी-मोदी कर रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि देश की जनता को मालूम है कि यह प्रयास ईमानदारी का प्रयास है और देश की जनता इसलिए कष्ट झेलने को तैयार है. सामान्य नागरिक बेईमानी से तंग आ चुका है. पीएम ने कहा कि आम आदमी बेईमानी नहीं चाहता है. पीएम मोदी ने आगे कहा कि ईमानदारी के लिए जो भी रास्ते बनेंगे, हर रास्ते पर देश को ले जाऊंगा.

मोदी ने कहा कि मोबाइल फोन से बैंकिंग के लिए लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है। मोबाइल फोन से सारा खर्च हो सकता है। यहां पर लोग ईवीएम में बटन दबाकर वोट देते हैं जबकि कई विकसित देशों में ठप्पा लगाकर अभी भी वोट दिया जाता है।

प्रधानमंत्री ने कहा, 'देश में 40 करोड़ लोग स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं, क्या ये लोग एटीएम की लाइन से बाहर नहीं आ सकते। भविष्य में भी भ्रष्टाचार का रास्ता बंद करना है। मोबाइल फोन से लेन-देन शुरू करेंगे तो यह सब हो जाएगा। 21वीं सदी में देश डिजिटल इंडिया बनने के लिए तैयार है। पीएम मोदी ने युवाओं का आह्वान करते हुए कहा कि लोगों को सिखाइए मोबाइल से कैसे लेन-देन करना है। देश का भविष्य बनाने के लिए यह जरूरी है। देश बेईमानों को स्वीकार नहीं करेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए और भारी संख्या में पुलिस बलों की तैनाती की गई। पीएम मोदी ने इससे पहले गाज़ीपुर, आगरा और कुशीनगर में परिवर्तन रैली को संबोधित किया था। अधिकारियों का कहना है कि रैली को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। एनआईए के साथ ही यूपी एटीएस भी दो दिन से मुरादाबाद में कैंप कर रही थी। प्रधानमंत्री के रैली ग्राउंड को 25 सेक्टरों में बांटकर 102 मजिस्ट्रेट और 200 से अधिक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी तैनात किए गए।

बीजेपी के पदाधिकारियों के अनुसार, रैली में रामपुर, अमरोहा, संभल और बिजनौर समेत आसपास के क्षेत्रों के करीब दो लाख लोग रैली में शामिल हुए थे। रैली को प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य, पार्टी उपाध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी ओम माथुर ने भी संबोधित किया।