अल्पसंख्यक अपना हक मांगे गिड़गिड़ाये नहीं: हामिद अंसारी

उप राष्ट्रपति ने कहा कि अगर पीएम माेदी पीएम माेदी देश में वाकई सबका साथ सबका विकास नारे काे हकिकत में बदलना चाहते हैं ताे उन्हे देश के मुस्लमानाें काे एक साथ सभी काे बराबरी का हक देना हाेगा।

अल्पसंख्यक अपना हक मांगे गिड़गिड़ाये नहीं: हामिद अंसारी

देश के उप राष्ट्रपति डा. हामिद अंसारी ने बीते शुक्रवार काे समाजिक विकास सुचकांक पर अन्य समुदायाें की तुलना में मुस्लिम समुदाय की पिछडें जाने पर कहा कि अगर पीएम माेदी देश में वाकई सबका साथ सबका विकास नारे काे हकिकत में बदलना चाहते हैं ताे उन्हे देश के मुस्लमानाें काे एक साथ सभी काे बराबरी का हक देना हाेगा। उन्हाेने आगे कहा कि मुस्लमानाें काे सरकार से अपना हक मांगना चाहिए गिड़गिड़ाने की बजाए। हामिद अंसारी ने कहा कि देश के मुस्लमानाें के पास सरकार से हक मांगने का कानूनी अधिकार है आैर देश के मुस्लमानाें काे कई बार उनके दायित्वाें आैर जिम्मदारियाें की याद दिलाने की जरुरत पड़ती है।

अंसारी ने मुस्लमानाें काे अपने गिरेबान काे झांकने आैर शिक्षा पर विषेश रूप से ध्यान देने काे कहा है क्यांकि इस सुदाय में पढ़ाई से वंचित आैर बीच में ही पढ़ाई छाेड़ने वाले बच्चाें की संख्या बहुत अधिक है। इसी पर उप राष्ट्रपति ने कहा कि अगर पीएम माेदी हमारे देश में सबका साथ सबका विकास चाहते हैं आैर सबकाे एक साथ चलाना चाहते हैं ताे सबकाे एक लाइन में खड़ा करना पड़ेगा। अपनी बात काे रखते हुए अंसारी ने कहा कि अगर काेई 10 गज पिछे हैं ताे फिर वह कैसे मुकाबला कर  सकता है। भारत एक एेसा मुल्क रहा है जाे अपने बलिदान आैर कुर्बानीयाें से जाना जाता है। इस देश की सभ्यता आैर सांस्कृतिक ही इस देश काे मजबूत बनाए रखी हुई है। धर्म निरपेक्ष इस देश की खासियत रही हैं इस  कारण भारत एक महान आैर समृद्ध देश बनेगा।