बर्लिन हमले की जिम्मेदारी आईएस ने ली

पिछले दिनों बर्लिन में ट्रक से हुए हमले की आतंकी संगठन आईएसआईएस ने जिम्मेदारी ली है। जर्मनी की राजधानी बर्लिन के एक भीड़भाड़ वाले क्रिसमस मार्केट में सोमवार रात एक बेकाबू ट्रक लोगों को रौंदता हुआ घुस गया था जिसमें कम से कम 12 लोगों लोग मारे गए और 48 लोग घायल हो गए हैं।

बर्लिन हमले की जिम्मेदारी आईएस ने ली

पिछले दिनों बर्लिन में ट्रक से हुए हमले की आतंकी संगठन आईएसआईएस ने जिम्मेदारी ली है। जर्मनी की राजधानी बर्लिन के एक भीड़भाड़ वाले क्रिसमस मार्केट में सोमवार रात एक बेकाबू ट्रक लोगों को रौंदता हुआ घुस गया था जिसमें कम से कम 12 लोगों लोग मारे गए और 48 लोग घायल हो गए हैं।

पुलिस इस बात की जांच की कर रही थी कि क्या इस हमले को आतंकियों ने अंजाम दिया है। इस बीच आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने हमले की जिम्मेदारी ले ली।

इस्लामिक स्टेट की समाचार एजेंसी एमएएक्यू के मुताबिक ' बर्लिन में हमले को अंजाम देने वाला आईएस का सिपाही है और इस्लामिक गठबंधन के देशों के नागरिकों को निशाना बनाने के जवाब में यह कार्रवाई की गई है।' उधर जर्मन पुलिस ने बड़े त्योहार क्रिसमस से ठीक पहले हुई इस घटना के आतंकी हमला होने की आशंका से इनकार नहीं किया है। ज्ञात हो कि सेंट्रल बर्लिन स्थित यह इलाका पर्यटकों के बीच मशहूर है।

रिपोर्ट के मुताबिक जर्मन मीडिया ने 23 वर्षीय के एक ऐसे युवक को इस हमले का संदिग्‍ध बताया है जो पाकिस्‍तान मूल का है और जिसने जर्मनी में शरण मांगी थी। इस युवक का नाम नावेद बी है और यह पाकिस्तानी नागरिक है लेकिन जर्मन पुलिस ने मंगलवार को कहा कि हमले के बाद गिरफ्तार किए गए पाकिस्तानी संदिग्ध की हमले में कोई संलिप्तता नहीं है। अंतराराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ब्रेतशिप्लात्ज में सोमवार रात को हमले के तुरंत बाद बर्लिन पुलिस ने एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया जिसके बारे में कहा जा रहा है कि वह पाकिस्तान का है और फरवरी में ही जर्मनी आया था। पुलिस का कहना है कि इस संदिग्ध नावेद बी (23) का नाम टेमेल्हफ हवाईअड्डे के शरणार्थी केंद्र में लिखा था और उसके कई पहचान पत्र थे। पुलिस उसे छोटे-मोटे अपराधों के मामले में जानती थी, लेकिन उसका आतंकवादियों से संपर्क नहीं था। पुलिस इस हमले की आतंकी दृष्टिकोण से जांच कर रही है। ज्ञात हो कि संदिग्‍ध नावेद को हमले वाली जगह से दो किलोमीटर दूर पकड़ा गया है।