जयललिता ने अपोलो के मेडिकल स्टाफ चाय का न्योता दिया था

जब अम्मा का अपोलो अस्पताल में इलाज चल रहा था तब उनहोंने देखभाल कर रही नर्सों से कहा था “घर चलो, बेहतरीन चाय पिलवाऊंगी।”

जयललिता ने अपोलो के मेडिकल स्टाफ चाय का न्योता दिया था



इलाज के दौरान अपोलो हॉस्पिटल के आईसीयू में एडमिट जयललिता की देखभाल के लिए कई नर्सें लगाई गई थीं, लेकिन इनमें से तीन उन्हें सबसे पसंद थीं। तमिलनाडु की पूर्व सीएम जयललिता हमेशा इन तीन नर्सों का इंतजार करती थीं,नर्सों से जयललिता कहता थीं, “घर चलो, बेहतरीन चाय पिलवाऊंगी।”

अपोलो अस्पताल में जयललिता की हर वक्त देखभाल करने वाली 3 नर्सों ने उन्हें 'किंग-कॉग' नाम दिया था। अस्पताल की नर्स सीवी शीला ने दिवंगत जयललिता को याद करते हुए बताया कि जब हम उनके आस-पास होते थे तो वह हमें देखकर मुस्कुराती थीं और कभी-कभी बातचीत करती थीं।

उन्होंने ये भी बताया कि जब हम उनके साथ रहते थे तो वह कुछ न कुछ खाने की कोशिश भी करती थीं। नर्स शीला के मुताबिक उनके आहार में उनका पसंददीदा उपमा, कर्ड राइस और पोटेटो करी शामिल होता था। बताया जा रहा है कि 16 नर्सों की टीम जयललिता की दिनभर देखभाल करती थी। उनमें शीला, एमवी रेनुका और समुंदेश्वरी दिवंगत जयललिता की पसंदीदा नर्सें थीं।

डॉक्टर्स ने बताया- हॉस्पिटल की बॉस थीं जयललिता

22 सितंबर की रात जयललिता को इमरजेंसी रूम में लाया गया था। चार घंटे बाद जब उनकी हालत में सुधार हुआ तो वो होश में आई। होश में आने के बाद उन्होंने संडविच और कॉफी मांगी थी। जयललिता की देखभाल कर रही टीम को लीड कर रहे सीनियर सलाहकार और डॉक्टर आर सेंथिल ने बताया कि इसके बाद वह लगातार यहां एडमिट रहीं। उन्होंने बताया कि अम्मा के पास जब भी समय होता था वह डॉक्टर्स से बातें किया करती थीं। वह स्किन केयर को लेकर टिप्स दिया करती थीं और कई बात को हेयर स्टाइल बदलने का आदेश भी देती थीं। मेडिकल डायरेक्टर डॉ. सत्या भामा ने कहा, “वह हमेशा महिलाओं को कहती थीं- कितनी भी बिजी रहो लेकिन खुद के लिए समय जरूर निकालो।”