नीतीश कुमार काे नाेटबंदी का समर्थन करने को के सी त्यागी ने राजी किया

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार काे उनके ही पार्टी जदयू के वरिष्ठ नेता के सी त्यागी ने भाजपा अध्यक्ष के साथ मुलाकात करने के लिए मनाया था। साथ ही उन्होंने नीतीश कुमार को नोटबंदी का समर्थन करने को कहा था

नीतीश कुमार काे नाेटबंदी का समर्थन करने को के सी त्यागी ने राजी किया

नाेटबंदी काे लेकर जहां पर एक तरफ घमासान चल रहा है वहीं कई मामले सामने आ रहे हैं। नाेटबंदी काे लकर विपक्षी दलाे का कहना है कि यह नाेटबंदी आर्थिक आपात है। यहां तक बिहार में महागठबंधन करने वाले आैर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार के इस नाेटबंदी के फैसले का शुरू में समर्थन किया था वहीं बाद में इसको लेकर लोगों को हो रही परेशानियां सामने आने के बाद इसका विरोध किया। नीतीश कुमार बिहार में अपने सहयाेगी दल राजद आैर राजद सुप्रीमाे लालू यादव काे तब चकित कर देते हैं जब उन्हाेंने नाेटबंदी के फैसले काे सही ठहराते हुए पीएम नरेंद्र माेदी के फैसले काे एक ऐतिहासिक करार दिया। उधर लालू प्रसाद ने नोटबंदी के फैसले को गलत और जनविरोधी बता रहे हैं।

नीतीश ने कहा था कि इस नाेटबंदी से दाे नंबर का धंधा बंद हाे जाएगा इसलिए मैं नाेटबंदी का समर्थन करता हूं। मीडिया रिपाेर्ट्स के मुताबिक बीते 1 नवंबर काे गुरुग्राम में स्थित एक फार्म हाउस में नीतीश कुमार ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की थी। बताया जा रहा है कि इस मुलाकात की मध्यस्था केसी त्यागी ने की थी। ज्ञात हो कि केसी त्यागी जनता दल यूनाइटेड के महासचिव हैं।

केसी त्यागी ने 1 नंवबर काे मीटिंग में शामिल होने के लिए नीतीश कुमार को समझाने सबसे ज्यादा प्रयास किया था। इसके परिणाम स्वरूप नीतीश और अमित शाह के बीच बैठक हुई। सूत्राें के मुताबिक बीजेपी अध्यक्ष अमित शान ने बिहार को पैकेज देने का भरोसा दिया था इस शर्त पर कि नीतीश कुमार नोटबंदी पर केंद्र का समर्थन करें। मोदी समर्थकों में नीतीश कुमार को शामिल करने का एक और उद्देश्य था उदार बुद्धिजीवी वर्ग विभाजित करना। इस नाेटबंदी पर राजनीतिक हमलों के बीच विपक्षी दलों के इस प्रमुख पार्टी ने पीएम मोदी के इस नीति का समर्थन किया।