केजरीवाल का केंद्र काे चुनाैती, कहा सभी नियुक्तियों की सीबीआई जांच करा ले

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज केंद्र सरकार काे निशाना बनाते हुए चुनौती दिया है कि वह उन सभी नियुक्तियों की सीबीआई से जांच करा ले जो उनकी सरकार ने की हैं।

केजरीवाल का केंद्र काे चुनाैती, कहा सभी नियुक्तियों की सीबीआई जांच करा ले

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज केंद्र सरकार काे निशाना बनाते हुए चुनौती दिया है कि वह उन सभी नियुक्तियों की सीबीआई से जांच करा ले जो उनकी सरकार ने की हैं। इससे पहले सीबीआई ने शहर के स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन के ओएसडी की नियुक्ति को लेकर प्राथमिकी दर्ज की है। केजरीवाल ने कहा कि वह किसी जांच से नहीं डरते और सवाल किया कि क्या केंद्र दिल्ली सरकार द्वारा नियुक्त समिति को सहारा-बिड़ला के कागजात देखने देगा।

केजरीवाल ने आरोप लगाया कि सीबीआई ने जैन के खिलाफ सात और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के खिलाफ दो प्राथमिकियां दर्ज की हैं लेकिन उनके बारे में विस्तार से नहीं बताया। आप को नई परेशानी में डालते हुए सीबीआई ने जैन के ओएसडी की नियुक्ति को लेकर प्राथमिकी दर्ज की है जबकि उपराज्यपाल के दफ्तर ने मोहल्ला क्लिनिक परियोजना में कार्यकार्त के तौर पर जैन की बेटी सौम्या जैन की नियुक्ति को लेकर एजेंसी की जांच की अनुशंसा की है। भाजपा नेता विजेंदर गुप्‍ता ने मांग की थी कि "आप" सरकार द्वारा जितनी नियुक्तियाँ की गई है उनकी जाँच के लिये उच्चस्तरीय कमेटी गठित की जाए।’

केजरीवाल ने साेशल मीडिया पर ट्विटर कर कहा कि, ‘‘आप (केंद्र) अपनी समिति बनाओ और हमारी सभी नियुक्तियों की जांच करो। और हम एक बनाएंगे और आप इससे सहारा-बिड़ला मामले की जांच कराएं। सहमत हैं?’’ इसके जवाब में गुप्‍ता ने लिखा, ”झूठे आरोप लगाने से आपका अपना अपराध कम नही होगा। ‘बुरा जो देखन मैं चला, बुरा ना मिलया कोय जो दिल खोजा आपना मुझ से बुरा ना कोय”’ केजरीवाल ने गुप्‍ता को चुनौती देते हुए जवाब दिया, ”हम किसी जांच से नहीं डरते हैं क्योंकि हमने कुछ गलत नहीं किया है। फिर आप क्यों जांच से डर रहे हैं?” इस पर गुप्‍ता ने जवाब दिया,

”आपने तो मेरी पत्नी पर भी झूठे आरोप लगाये,एक महिला के लिए अभद्र भाषा बोली।हमें भी किसी जाँच से डर नही है पर कोई अपराध तो हो!”दोनों की इस नोंकझोंक पर ट्विटर यूजर्स ने खूब चुटकी ली। एक यूजर ने केजरीवाल से कहा, ”जिस सबूत को कोर्ट ने काल्पनिक क़रार करके नकारा है उसके भरोसे आप पीएम पर आरोप लगा रहे हो।” एक अन्‍य ने कहा, ”जिन पर आरोप लगाते हो उन्ही को जांच करने को कहते हो…. सबूत हैं तो अदालत को दो.. जाँच पड़ताल शुरू हो जाएगी!”

उल्लेखनिय है कि बीते गुरुवार को ही असम की एक स्थानीय अदालत ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को सम्मन भेजकर उनसे एक शिकायत पर व्यक्तिगत रूप से पेश होने के लिए कहा है। शिकायत में आरोप लगाया गया कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणियां की हैं।