केरल: सीनियर छात्रों ने बर्बर तरीके से 6 घंटे तक की रैगिंग

केरल में सीनियर छात्रों ने 6 घंटे तक जूनियर छात्र की रैगिंग करने के बाद हानिकारक पाउडर मिलाकर शराब पिलाई, किडनी में चोट की शिकायत, मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस ।

केरल: सीनियर छात्रों ने बर्बर तरीके से 6 घंटे तक की रैगिंग

कोट्टायम के एक राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज में फर्स्ट ईयर के एक छात्र को किडनी में गंभीर चोट के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस के मुताबिक पीड़ित के साथ उसके 8 सीनियर स्टूडेंटस ने बर्बर तरीके से रैगिंग की थी।

पुलिस का कहना है कि छात्र को त्रिसूर के एक अस्पताल में दाखिल कराया गया है और उसे डायलिसिस पर रखा गया है। डॉक्टरों के मुताबिक छात्र की किडनी में गंभीर चोटें आई हैं। आरोपी छात्रों ने पीड़ित को कुछ हानिकारक पाउडर मिलाकर शराब पीने के लिए कथित रूप से बाध्य किया। इसके पहले उसकी छह घंटे तक बर्बर तरीके से रैगिंग की गई।

जिले के नट्टाकोम स्थित संस्थान के 8 छात्र घटना के बाद से ही फरार हैं। पुलिस ने उन छात्रों के खिलाफ रैगिंग का मामला दर्ज किया है। आरोपी छात्रों को संस्थान से निलंबित भी कर दिया गया है।

पुलिस के मुताबिक पीड़ित छात्र को 10 दिन पहले अस्पताल में भर्ती कराया गया था और अब तक उसकी तीन बार डायलिसिस हो चुकी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

केरल के पूर्व मुख्यमंत्री ओमन चांडी पीड़ित छात्र को देखने अस्पताल गए और उन्होंने राज्य सरकार से छात्र के इलाज का खर्च उठाने का भी आग्रह किया है। इस बीच राज्य मानवाधिकार आयोग ने शिक्षा विभाग से इस घटना पर रिपोर्ट मांगी है।

पुलिस में दर्ज कराई गई दो अलग-अलग शिकायतों में, दो छात्रों ने आरोप लगाया कि संस्थान के सीनियर स्टूडेंटस ने उनके साथ क्रूर रैगिंग की। पुलिस ने कहा कि एक छात्र का त्रिशूर के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है जबकि अन्य एराकुलम के एक निजी अस्पताल में भर्ती हैं।

पुलिस ने बताया कि दोनों घटनाओं के आरोपी एक ही समूह के हैं। पीड़ितों ने आरोप लगाया है कि उन्हें करीब छह घंटे तक पुश अप जैसे शारीरिक कसरत करने और यहां तक की शराब पीने को मजबूर किया गया।

(सौ- गूगल)