'दीदी' का पर्रिकर पर निशाना...

पश्चिम बंगाल में सेना की तैनाती पर सीएम ममता बनर्जी ने रक्षा मंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि पर्रिकर अपने राजनीतिक मकसद के लिए सेना का इस्तेमाल कर रहे हैं।

पश्चिम बंगाल में सेना की तैनाती के मुद्दे पर घमासान अभी थमता नज़र नहीं आ रह है। पहले रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने पत्र लिखा कि, जिसका पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी बेहद तीखा जवाब दिया है। ममता ने रक्षा मंत्री पर हमला बोलते हुए कहा कि सवाल सेना पर नहीं बल्कि सरकार की मंशा पर सवाल उठाए थे। इतना ही नहीं उन्होंने रक्षा मंत्री द्वारा प्रयोग किए गए भाषा पर भी नाखुशी जाहिर की।

ममता बनर्जी ने कहा, 'मैं रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर की चिट्‌ठी की भाषा से नाखुश हूं। मैंने सेना नहीं बल्कि सरकार की नीति पर भी सवाल उठाया था। रक्षा मंत्री को एक मुख्यमंत्री को पत्र लिखने के तरीके की जानकारी नहीं है। पर्रिकर अपने राजनीतिक मकसद के लिए सेना का इस्तेमाल कर रहे हैं।'

रक्षा मंत्री के पत्र पर आपत्ति जाहिर करते हुए बंगाल की मुख्यमंत्री ने कहा कि सेना को राजनीतिक उद्देश्‍यों को प्राप्‍त करने के लिए इस्‍तेमाल कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि मैंने सरकार की नीति के बारे में कहा था, ना कि सेना के बारे में। ममता बनर्जी ने कहा कि मेरे लंबे राजनीतिक और प्रशासनिक जीवन में सम्‍मानित संगठन (सेना) का प्रयोग राजनीतिक बदले के लिए होते हुए कभी नहीं देखा था।

वहीं, दूसरी तरफ टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन का कहना है कि चिट्ठी के बारे में मीडिया से ही जानकारी मिली है। पत्र मिलने के बाद हम उसका करारा जवाब देंगे।

गौरतलब है कि रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आरोपों पर पत्र लिखकर निराशा प्रकट की थी। पर्रिकर ने कहा, 'ममता बनर्जी के आरोपों से सशस्त्र सेनाओं के मनोबल पर बुरा असर पड़ सकता है।'

रक्षा मंत्री ने ममता से निराशा जताते हुए लिखा, 'आपके जैसे स्तर के अनुभवी व्यक्ति से इस तरह की अपेक्षा नहीं थी। इस विवाद से पूरी तरह बचा जा सकता था।' बंगाल की मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया था कि केंद्र ने राज्य सरकार को विश्वास में लिए बिना ही सेना तैनात करने का फैसला किया।