मेरठ: महिला के खाते में 99 करोड़ रूपए, देखकर उड़ गए होश, पीएम से मांगी मदद

उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक महिला के जनधन खाते में अचानक 99 करोड़ रुपये जमा हो गए जिसे देख उसके होश उड़ गए इस घटना के बाद महिला के परिवार की नींद भी गायब है...

मेरठ: महिला के खाते में 99 करोड़ रूपए, देखकर उड़ गए होश, पीएम से मांगी मदद

नोटबंदी के बाद से कालाधन रखने वाले लोग परेशान हैं। उनको कालाधन छुपाने की जगह नहीं मिल रही अपने ब्लेक मनी को वाइट करने के लिए कुछ लोग तो आम लोगों का सहारा ले रहे हैं। जिन लोगों के जनधन खाते खुले हैं अचानक उनके खाते में करोड़ो रूपए की राशि जमा हो रही है तो कहीं पर नाले या बोरियों में कालाधन मिल रहा है। मेरठ में एक ऐसा ही नया मामला सामने आया है जहां एक महिला के जनधन खाते में अचानक 99 करोड़ रुपये जमा हो गए जिसे देख वो हैरान रह गई। इस घटना के बाद महिला के परिवार की नींद भी गायब है। महिला ने बैंक से इस संबंध में शिकायत की है कि ये पैसे उसके नहीं हैं। महिला की शिकायत के बाद भी बैंक की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई जिसके बाद महिला के पति ने पीएम मोदी को मेल भेज कर मदद की गुहार लगाई है।

बता दें कि शीतल नाम की महिला मेरठ की एक फैक्ट्री में हर महिने मात्र 5000 रूपए के वेतन पर काम करती है। शीतल के पति जिलेदार सिंह यादव भी एक कंपनी में मामूली वेतन पर काम करते हैं 18 दिसंबर को शीतल अपना खाता जांचने आईसीआईसीआई बैंक के एटीएम पर गई जिसके बाद खाते की स्लिप जब उसके हाथ लगी तो वह चौंक पड़ी। स्लिप पर 99 करोड़, 99 लाख, 99 हजार, 394 रुपये अंकित थे।

गौरतलब है कि शीतल और उनके पति ने एसबीआई शारदा रोड में मामले को लेकर शिकायत दर्ज कराई लेकिन बैंक की तरफ से उन्हें संतोषजनक उत्तर नहीं दिया गया. बैंक अफसरों से मदद न मिलने पर शीतल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ई-मेल भेजकर मदद की मांगी है शीतल ने साल 2015 में ब्रह्मपुरी स्थित सहायक केंद्र के माध्यम से एसबीआई की शारदा रोड शाखा में जनधन खाता खुलवाया था. मामले के प्राकाश में आने के बाद यह सवाल उठ खड़ा होता है कि कहीं शीतल के जनधन खाते का इस्तेमाल काले धन को सफेद करने के लिए तो नहीं किया गया है