मेट्रो ट्रायल सीएम अखिलेश की बचकानी जिद: मायावती

बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सस्ती लोकप्रियता और अपने नाम का पत्थर लगाने के लिए ट्रायल रन खुद शुरू करने की बचकानी जिद को सीएम ने पूरा कर लिया।

मेट्रो ट्रायल सीएम अखिलेश की बचकानी जिद: मायावती

बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सस्ती लोकप्रियता और अपने नाम का पत्थर लगाने के लिए लखनऊ मेट्रो ट्रायल रन खुद शुरू करने की बचकानी जिद को सीएम ने पूरा कर लिया।

मायावती ने कहा कि अच्छा होता कि वे थोड़े दिन और इंतजार कर लेते। 26 मार्च 2017 को मेट्रो रेल का औपचारिक संचालन शुरू होता, तब इसका उद्घाटन करते। उन्हें यह लगता है और विश्वास हो गया है कि वह अब सत्ता में दोबारा नहीं लौटने वाले है। इसलिए यह सरकार जल्दबाजी दिखा रही है।

उन्होंने कहा कि लखनऊ से पहले नोएडा-गाजियाबाद में भी मेट्रो रेल शुरू की जा चुकी है। बता दें कि लखनऊ की महत्वपूर्ण मेट्रो रेल परियोजना बीएसपी सरकार ने 2008 में शुरू की थी। डीएमआरसी और एलडीए के बीच अनुबंध हुआ था।

इसका सरकारी गजट टेक्निकल सर्वे जुलाई 2008 में हुआ और अक्तूबर 2008 में एलडीए ने इस परियोजना की कार्य योजना को स्वीकृति दी थी। वहीं जुलाई 2011 में इसकी डीपीआर केंद्र सरकार को भेज दी गई थी। लखनऊ मेट्रो के लिए तमाम बुनियादी काम बीएसपी सरकार में पूरे हो गए थे।

मायावती ने आगे कहा कि सीएम ने नियम-कानून ताक पर रख मनमाने ढंग से सरकार चलाई है। अगली सरकार में समाजवादी पार्टी शासन की अब तक नियुक्तियों के साथ-साथ जो भी बड़े आर्थिक फैसले हुए हैं, उनकी जांच कराई जाएगी।