मध्य प्रदेश: महिला से 36 घंटे तक गैंगरेप, FIR दर्ज करने से पुलिस ने किया इनकार

मध्य प्रदेश में एक आदिवासी महिला को 6 घंटे तक बंधक बनाकर गैंगरेप किया गाया। FIR दर्ज कराने के लिए भी पीड़ित महिला को कई थानों का चक्कर काटना पड़ा, हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया...

मध्य प्रदेश: महिला से 36 घंटे तक गैंगरेप, FIR दर्ज करने से पुलिस ने किया इनकार

मध्य प्रदेश में एक आदिवासी महिला को 6 घंटे तक बंधक बनाकर गैंगरेप का मामला सामने आया है। मामला बैतूल जिले का है जहाँ एक आदिवासी विवाहिता का अपहरण कर 36 घंटे तक 6 लोगों ने मिलकर दुष्कर्म किया है। 36 घंटे तक दुष्कर्मियों के चंगुल में रही महिला को आरोपी बेहोसी की हालत में जंगल में छोड़ गए जिसके बाद वो 13 किलोमीटर पैदल चलकर बदहवाश हालत में बैतूल पहुंची। हद तो तब हो गई जब महिला रिपोर्ट दर्ज कराने थाने पहुंची तो पुलिस कर्मी उसे एक थाने से दूसरे थाने के चक्कर कटवाते रहे। महिला की हालत गंभीर होने पर उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पीड़ित महिला आमला के इतवारी इलाके की रहने वाली है। इलाके के कुछ दबंगों से विवाद चल रहा है। महिला के साथ पिछले 27 नवंबर को एक पूर्व पार्षद और उसके साथियों ने छेड़छाड़ की थी। जिसकी आमला थाने में शिकायत भी की गई थी। आरोपी इस परिवार पर इसी शिकायत को वापस लेने का दबाव बना रहा था। पीड़ित महिला की सास और देवर की मानें तो 15 तारीख की रात उनके घर पहुंचे 6 बाइक सवारों ने घर का दरवाजा तोड़कर पीड़िता को जबरदस्ती बाइक पर बैठा लिया और अपहरण कर ले गये। जिसके बाद महिला के साथ इस दरिंदगी को अंजाम देने के बाद उसे जंगल में फेक दिया गया।

दर्द से कराहती महिला जिला अस्पताल पहुंची तो यहां भी डॉक्टर उसका इलाज करने को तैयार नहीं हुए। अस्पताल में फर्श पर पड़ी महिला दर्द से कराहती रही, लेकिन स्टाफ ने भी उसकी पीड़ा जानने की जहमत नहीं उठाई। लेकिन जब मीडिया ने इस मामले में दखल दिया तो न केवल महिला को अस्पताल में भर्ती किया गया, बल्कि महिला डेस्क प्रभारी और अजाक डीएसपी खुद बयान लेने अस्पताल पहुंच गए। पुलिस ने छह आरोपियों के खिलाफ अपहरण और दुराचार का केस दर्ज किया है।