नोटबंदी से अब नायडू की उड़ी नींद, कहा- रोज सिर खपा रहा हूं लेकिन नहीं मिल रहा समाधान

पीएम मोदी के नोटबंदी के फैसले को सही ठहराने वाले बीजेपी के सहयोगी दल तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) के प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू की अब नींद उड़ गई है।

नोटबंदी से अब नायडू की उड़ी नींद, कहा- रोज सिर खपा रहा हूं लेकिन नहीं मिल रहा समाधान

पीएम मोदी के नोटबंदी के फैसले को सही ठहराने वाले बीजेपी के सहयोगी दल तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) के प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू की अब नींद उड़ गई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने कहा कि नोटबंदी के कारण हो रही परेशानियों को कम करने के बारे में मैं रोजाना सोचता हूं और समस्या के सामाधान के लिए दो घंटे रोज समय देता हूं लेकिन हम इस समस्या का समाधान ढूंढने में असफल हैं।  माना जा रहा है कि उनके इस बयान से विपक्ष को और ताकत मिलेगा। उन्होंने कहा कि नोटबंदी का फैसला लिए 40 से ज्यादा दिन बीत जाने के बावजूद इससे उत्पन्न समस्या का समाधान अब भी नहीं दिख रहा है।

चंद्र बाबू नायडू ने कहा कि मैं इस समस्या पर सिर खपा रहा हूं लेकिन कोई हल नहीं मिल पा रहा है। ज्ञात हो कि इससे पहले नायडू ने मोदी सरकार के इस फैसले की तारीफ किया था। चंद्रबाबू ने विजयवाड़ा में अपनी पार्टी के सांसदों, विधायकों, विधान पार्षदों और अन्य नेताओं के एक कार्यशाला को संबोधित करते हुए नोटबंदी से हो रही परेशानियों के बारे में ये बातें कही।

नायडू ने आगे कहा कि हमने नोटबंदी की चाह नहीं रखी थी लेकिन ऐसा हुआ। नोटबंदी के 40 दिनों से ज्यादा गुजर जाने के बाद भी बहुत सी परेशानियां हैं लेकिन अभी भी हल निकलता नहीं दिख रहा है। ज्ञात हो कि चंद्रबाबू नायडू नोटबंदी पर गौर करने के लिए बनी 13-सदस्यीय केंद्रीय समिति के प्रमुख भी हैं।

उन्होंने कहा कि लोगों को अपनी बुनियादी जरुरत की चीजें खरीदने के लिए नई करेंसी नहीं मिल पा रही है जो बेहद चिंता की बात है। बैंक और एटीएम में रोज कैश की किल्लत नजर जा रही है। नायडू ने आरबीआई को भी सवालों के घेरे में खड़ा किया और कहा कि जिन लोगों को नोटबंदी के संकट के प्रबंधन में लगाया गया है, वे कुछ भी करने के लायक नहीं है। आरबीआई भी इस मामले में कुछ करने में सक्षम नजर नहीं आ रहा है। यह अब बेहद संवेदनशील और जटिल समस्या बनता जा रहा है। बता दें कि नायडू 12 अक्टूबर को नोटबंदी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भी लिख चुके हैं।