जयललिता जैसा कोई नहीं, पर कैसी होगी सियासी तस्वीर ?  

छह बार तमिलनाडु की सीएम रहीं जयललिता के निधन के बाद अहम सवाल ये है कि राज्य की सियासत क्या करवट लेगी? ओ. पन्नीरसेल्वम नए सीएम बन गए हैं, लेकिन माना जा रहा है कि 44 साल पुरानी AIADMK की कमान जयललिता की खास सलाहकार रहीं शशिकला के ही हाथों में होगी। दरअसल, जयललिता के रहते पूरी राजनीति उन्हीं के इर्द-गिर्द सिमटी रही। पार्टी में कभी सेकंड लाइन बनी ही नहीं। खुद जयललिता ने भी इसके लिए खास कोशिश नहीं की। अब पार्टी टूटने का डर है।

जयललिता जैसा कोई नहीं, पर कैसी होगी सियासी तस्वीर ?  

छह बार तमिलनाडु की सीएम रहीं जयललिता के निधन के बाद अहम सवाल ये है कि राज्य की सियासत क्या करवट लेगी? ओ. पन्नीरसेल्वम नए सीएम बन गए हैं, लेकिन माना जा रहा है कि 44 साल पुरानी AIADMK की कमान जयललिता की खास सलाहकार रहीं शशिकला के ही हाथों में होगी। दरअसल, जयललिता के रहते पूरी राजनीति उन्हीं के इर्द-गिर्द सिमटी रही। पार्टी में कभी सेकंड लाइन बनी ही नहीं। खुद जयललिता ने भी इसके लिए खास कोशिश नहीं की। अब पार्टी टूटने का डर है।