रिजर्व बैंक ने मांगा सभी बैंकों से जाली नोटों की ब्यौरा

भारतीय रिजर्व बैंक ने सभी बैंकों से उन जाली नोटों का ब्यौरा मांगा है जिनको नोटबंदी के बाद बैंकों में दमा कराने के दौरान पकड़ा गया है...

रिजर्व बैंक ने मांगा सभी बैंकों से जाली नोटों की ब्यौरा

भारतीय रिजर्व बैंक ने सभी बैंकों से उन जाली नोटों का ब्यौरा मांगा है जिनको नोटबंदी के बाद बैंकों में दमा कराने के दौरान पकड़ा गया है। रिजर्व बैंक ने इसके लिए सभी बैंकों को निर्देश दिए हैं। रिजर्व बैंक इससे जाली नोटों की कुल संख्या का पता लगाना चाहती है।

बता दें कि बैंकों को जाली करेंसी का ये ब्यौरा तीन अलग-अलग तारीखों को देना है। इसकी पहली तारीख 16 दिसंबर है। रिजर्व बैंक ने इससे पहले बैंकों को जारी परामर्श में कहा था कि बैंकों को दैनिक आधार पर विभिन्न बैंकों में पकड़ में आए जाली नोटों के बारे में रिपोर्ट करना है।

गौरतलब है कि रिजर्व बैंक की अधिसूचना में कहा गया है कि इसी को जारी रखते हुए बैंकों को शाखा दर शाखा जाली नोट का ब्यौरा उपलब्ध कराना है। 10 नवंबर से 9 दिसंबर तक पकड़ में आए जाली नोटों का ब्यौरा बैंकों को रिजर्व बैंक को 16 दिसंबर तक देना है। 10 से 16 दिसंबर का ब्योरा 23 दिसंबर तक तथा 17 से 30 दिसंबर का ब्योरा 6 जनवरी, 2017 तक देने का निर्देश दिया गया है।