ओडिशा: हवा में 45 मिनट तक मंडराता रहा नवीन पटनायक का हेलीकॉप्टर, इंजीनियर निलंबित

ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक गुरुवार को जिस हेलीकॉप्टर में सवार थे, वह करीब 45 मिनट तक हवा में मंडराता रहा। इस घटना के बाद कोरापुट जिले में एक एग्जिक्यूटिव इंजीनियर को अपने कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित कर दिया गया।

ओडिशा: हवा में 45 मिनट तक मंडराता रहा नवीन पटनायक का हेलीकॉप्टर, इंजीनियर निलंबित

ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक गुरुवार को जिस हेलीकॉप्टर में सवार थे, वह करीब 45 मिनट तक हवा में मंडराता रहा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस घटना के बाद कोरापुट जिले में एक एग्जिक्यूटिव इंजीनियर को अपने कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित कर दिया गया।

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक राज्य सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जयपुर सब-डिवीजन में अपना कार्यक्रम पूरा करने के बाद पटनायक गुरुवार दोपहर 12 बजकर 40 मिनट पर कोटपद के लिए रवाना हुए और उन्हें 12 बजकर 55 मिनट पर पहुंचना था।

इसके साथ ही अधिकारी ने बताया कि सीएम के हेलीकॉप्टर के उतरने के लिए हेलीपैड तैयार करने के लिए जिम्मेदार लोक निर्माण विभाग को अक्षांश, देशांतर और उंचाई सहित जगह का पूरा ब्योरा देना था, लेकिन उसने समय पर पायलट को ये सूचनाएं नहीं दी जिसकी वजह से सीएम पटनायक का हेलीकॉप्टर उतरने में देरी हुई।

उन्होंने बताया कि पायलट सही जगह की तलाश करता रहा और सीएम 45 मिनट तक हवा में फंसे रहे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक विभाग के सचिव नलिन कांत प्रधान ने बताया कि इस घटना के बाद जयपुर के एग्जिक्यूटिव इंजीनियर को निलंबित कर दिया गया।