नाेटबंदी का एक महीना पूरा- विपक्ष काली पट्टी बांधकर संसद परिसर में कर रहे है विराेध

नाेटबंदी काे लेकर आज 14 विपक्षी पार्टियां संसद परिसर में काली पट्टी बांधकर विराेध कर रहे है। विपक्षी दल नोटबंदी के एक महीने पूरे होने के मौके पर आज गुरुवार को ब्लैक डे मना रहे हैं।

नाेटबंदी का एक महीना पूरा- विपक्ष काली पट्टी बांधकर संसद परिसर में कर रहे है विराेध

केंद्र सरकार का 500 आैर 1000 के नाेटाें काे अवैध करने वाले फैसले का आज पूरा एक महीना हो गया हैं। मोदी सरकार के इस फैसले का कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दल विरोध कर रहे हैं। विपक्षी दलों का आरोप है कि सरकार के इस फैसले से देश को और खासकर आम लोगों को बड़ी दिक्कतें हुई हैं। कांग्रेस का आरोप है कि नोटबंदी के बाद देश भर में अब तक 84 लोगों की  मौत हो चुकी है। विपक्षी दल नोटबंदी के एक महीने पूरे होने के मौके पर आज गुरुवार को ब्लैक डे मना रहे हैं।

काली पट्टी बांधकर विरोध
नोटबंदी के फैसले के खिलाफ विपक्ष के अधिकांश दल एकजुट हैं। लोकसभा और राज्यसभा में बुधवार को भी दिनभर कामकाज नहीं हुआ। । वहीं गुरूवार को भी हंमामा ही दिख रहा है। वहीं इस के विराेध में सभी विपक्षी दल के राज्यसभा और लोकसभा सदस्य गांधी स्टैच्यू पर धरना देंगे। सभी सांसद काली पट्टी बांधकर भी विरोध जताएंगे। यह अनुमान लगाया जा रहा के की संसद के अंदर भी हंगामा जारी रह सकता है। विपक्ष नोटबंदी पर चर्चा के साथ-साथ वोटिंग की भी मांग कर रहा है। बताया जा रहा है कि बीते बुधवार को 14 दलों के नेताओं की बैठक में यह फैसला हुआ कि समूचा विपक्ष गुरुवार को ब्लैक डे के रूप में मनाएगा।

ज्ञात हाे कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर को 500 और 1000 के नोटों के प्रयोग काे  बंद करने का ऐलान किया था। इसके बाद से ही संसद में नोटबंदी को लेकर दोनों सदनों में गतिरोध जारी है। बुधवार को 'पीएम माफी मांगो' जैसी नारेबाजी के बीच बीजेपी के वरिष्ठ नेता एल के आडवाणी ने भी सदन में कामकाज न चलने पर नाराजगी जताई। आडवाणी ने दो टूक टिप्पणी करते हुए कहा था कि न तो सरकार, न विपक्षी दल और न ही लोकसभा स्पीकर सदन चलाना चाहते हैं।

संसद में हुई थी नारेबाजी
नाेटबंदी पर बीते बुधवार को इस मुद्दे को लेकर जहां विपक्ष ने संसद के दाेनाे सदन में हंगामा किया वहीं पर राज्यसभा में बीजेपी सदस्यों ने भी विपक्ष के खिलाफ नारेबाजी की। राज्यसभा में विपक्ष ने 'पीएम सदन में आओ' का नारा लगाया। हंगामे के बाद राज्यसभा की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी गई। लोकसभा की कार्यवाही दिन भर नहीं चल सकी।

कांग्रेस ने उठाए सवाल

वहीं पर कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद नेपीएम माेदी पर हमला करते हुए कहा कि नोटबंदी के फैसले से क्या हासिल हुआ। एक महीने हो गए हैं और अब तक 84 लोगों की लाइनों में लगकर मौत हो चुकी है।

किसी को तो झुकना होगा: शिवसेना
शिवसेना के सांसद संजय राउत ने संसद में जारी गतिरोध पर कहा कि देश के हित में किसी न किसी को झुकना पड़ेगा। चाहे वो सत्ता पक्ष हो या विपक्ष।

पीएम का सख्त संदेश
इस बीच, पीएम मोदी ने नोटबंदी के फैसले के बारे में बुधवार को सख्त संदेश दिया। बीजेपी संसदीय दल की बैठक में पीएम मोदी ने पार्टी नेताओं से जनता के बीच जाकर नोटबंदी के फायदों और डिजिटाइजेशन तथा कैशलेस इकोनॉमी के बारे में बताने को कहा। पीएम ने कहा कि जैसे चुनाव प्रचार के लिए आप लोगों के बीच जाते हैं वैसे इस कदम के बारे में जाकर लोगों को बताइए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी जैसे बड़े सुधारों पर संसद में बहस नहीं करने देने और गतिरोध पैदा करने को लेकर विपक्षी दलों की निंदा भी की।