पनीरसेल्वम बने तमिलनाडु के नए सीएम

तमिलनाडु के कार्यकारी सीएम पनीरसेल्वम को जयललिता के निधन के बाद AIADMK विधायक दल का नेता चुना गया है। पनीरसेल्वम ने तमिलनाडु के अगले मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ले ली है।

पनीरसेल्वम बने तमिलनाडु के नए सीएम

तमिलनाडु के कार्यकारी सीएम पनीरसेल्वम को जयललिता के निधन के बाद  AIADMK विधायक दल का नेता चुना गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पनीरसेल्वम ने तमिलनाडु के अगले मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ले ली है।

वहीं शपथ के पहले दो मिनट का मौन भी रखा गया। पनीरसेल्वम जयललिता के बेदह नजदीकी थे। जब भी जयललिता को किसी वजह से मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़नी पड़ी, उन्होंने पनीरसेल्वम पर ही भरोसा जताया।

तमिलनाडु की सीएम जयललिता करीब ढाई महीने से अस्पताल में भर्ती थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सोमवार देर रात उनका निधन हो गया। चेन्नई अपोलो अस्पताल ने इसकी पुष्टि की है।

मीडिया में आ रही खबरों क् मुताबिक अस्पताल की तरफ से दिए गए बयान में कहा गया कि इस घोषणा के लिए हमारे पास शब्द नहीं हैं। यह बताते हुए बड़ा दुख हो रहा है कि ‘अम्मा’ जयललिता अब इस दुनिया में नहीं रहीं। उन्होंने रात 11.30 बजे अंतिम सांस ली। बता दें कि उन्हें 22 सितंबर को बुखार और पानी की कमी के कारण भर्ती कराया गया था।

वहीं करीब 26 घंटे तक जयललिता की सेहत को लेकर कयासों का दौर चला। सोमवार शाम कुछ तमिल चैनलों ने उनके निधन की खबर चला दी थी। इसके बाद उनके समर्थकों में अफरातफरी का माहौल बन गया था। उनके समर्थक बेकाबू भी हो गए थे जिस वजह से पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा। जिस तरह के सुरक्षा इंतजाम राज्यभर में  किए गए थे उससे माना जा रहा था कि जयललिता की हालत बेहद गंभीर है।

तमिलनाडु सरकार के मंत्री और अन्नाद्रमुक के वरिष्ठ नेता ओ. पन्नीरसेल्वम ने जयललिता के निधन के बाद सोमवार देर रात राज्य के सीएम पद की शपथ ले ली। राज्यपाल विद्यासागर राव ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई।

बता दें कि जयललिता के इलाज के लिए लंदन के जिस चिकित्सक से मसिवरा किया गया था, उन्होंने सोमवार को कह दिया था जयललिता की स्थिति अत्यंत गंभीर है। डॉ. रिचर्ड बेले ने एक बयान में कहा था कि स्थिति अत्यंत गंभीर है लेकिन मैं इसकी पुष्टि करता हूं कि जो भी संभव है वह किया जा रहा है ताकि उन्हें इस स्थिति से बचने का सर्वश्रेष्ठ मौका दिया जा सके।