नोटबंदी-रिजीजू के टेप को लेकर संसद के दोनों सदनों में हंगामा, कार्यवाही स्थगित, पीएम रहे मौजूद

नोटबंदी और केंद्रीय मंत्री किरण रिजीजू के टेप को लेकर लोकसभा और राज्यसभा एक बार फिर दोपहर तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। कार्यवाही के दौरान पीएम मोदी मौजूद रहे लेकिन विपक्षी पार्टी ने नोटबंदी के चलते लोगों को हो रही परेशानियों का मामला उठाया।

नोटबंदी-रिजीजू के टेप को लेकर संसद के दोनों सदनों में हंगामा, कार्यवाही स्थगित, पीएम रहे मौजूद

नोटबंदी और केंद्रीय मंत्री किरण रिजीजू के टेप को लेकर संसद में हो रहे हंगामे के बीच लोकसभा और राज्यसभा एक बार फिर आज दोपहर तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। कार्यवाही के दौरान पीएम मोदी मौजूद रहे लेकिन विपक्षी पार्टी ने नोटबंदी के चलते लोगों को हो रही परेशानियों का मामला उठाया। हंगामे के बाद लोकसभा स्थगित कर दिया गया है।

प्रधानमंत्री के नोटबंदी फैसले और बयान को लेकर विपक्षी पार्टी के नेता लगातार संसद में हंगामा कर रहे हैं। सरकार विपक्षी पार्टियों पर आरोप लगा रही है कि वे संसद चलने नहीं दे रहे वहीं विपक्षी पार्टियां में भी सरकार पर आरोप लगा रही है कि सरकार चर्चा से भाग रही है। उधर विपक्षी पार्टी के नेता नोटबंदी को लेकर संसद में वोटिंग कराने पर अड़े हुए हैं। सरकार और विपक्ष आखिरी दिनों के लिए अपनी-अपनी रणनीति बनाकर पूरी तरह तैयार हैं। संसद का शीतकालीन सत्र 16 दिसंबर तक चलेगा।केंद्रीय मंत्री वैंकेया नायडू ने कहा कि संसद की कार्यवाही के आखिरी तीन दिनों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मौजूद रहेंगे।

बता दें कि संसद के आखिरी तीन दिनों के लिए बीजेपी और कांग्रेस ने अपने-अपने सांसदों को व्हिप जारी किया है। सभी लोकसभा और राज्यसभा सांसदों के लिए अगले तीन दिनों के लिए यह व्हिप है। कांग्रेस ने सरकार को रूख को देखते हुए राज्यसभा और लोकसभा दोनों सदनों के लिए अपने सांसदों को व्हिप जारी किया है। संसद की कार्यवाही से ठीक पहले कांग्रेस सांसदों की बैठक होगी। बीजेपी के संसदीय दल की भी बैठक होगी।

गौरतलब है कि संसद में हंगामे का दौर जारी है और चार दिन के अवकाश के बाद भी संसद में हंगामे की पूरी संभावना है। क्योंकि विपक्ष सरकार को घेरने के लिए पूरी तरह तैयार है। सिर्फ संसद में ही नही बल्कि संसद के बाहर भी बीजेपी और कांग्रेस के बीच शीतयुद्ध जारी है। जहां एक तरफ पीएम मोदी सभा में कह चुके हैं कि विपक्ष उन्हें सदन में अपनी बात नहीं कहने दे रहा है। तो वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का कहना है कि पीएम सदन में आकर सांसदों के सवालों का जवाब दें बाहर सभाओं में जवाब देने से कुछ नहीं होगा।