पीएम मोदी, राहुल और केजरीवाल मचाएंगे घमासान

यूपी मेें चुनावी गर्माहट देखी जा रही है। इस हफ्ते पीएम मोदी, राहुल और केजरीवाल सूबे में घमासान मचाएंगे।

पीएम मोदी, राहुल और केजरीवाल मचाएंगे घमासान

ये हफ्ता यूपी में चुनावी उथल-पुथल और हंगामेदार रहने वाला है। नोटबंदी से गुस्साए कांग्रेस के युवराज यूपी में सभा करेंगे तो केजरीवाल भी लखनऊ आकर केंद्र पर निशाना साधेंगे। वहीं पीएम मोदी कानपुर में होने वाली 19 दिसंबर के परिवर्तन रैली के जरिए यूपी चुनाव 2017 में कमल खिलाने का प्रयास करते दिखेंगे। बात करें सीएम अखिलेश यादव की तो वह भी किसी से पीछे नहीं रहेंगे वह कई योजनाओं को 18 दिसंबर को हरी झण्डी दिखाएंगे।

यूपी में चुनाव करीब है और यहां चुनाव की गर्माहट से नेताओं के पसीने छूट रहे हैं। आरोप और प्रत्यारोप का दौर शुरू हो चुका है। अब बता दें यूपी की जनता को अगले हफ्ते चुनावी घमासान भी देखने को मिलेगा। दरअसल सीएम अखिलेश 18 दिसंबर को यूपी में कई योजनाओं का उद्घाटन करेंगे इस दौरान वह मोदी पर हावी हो सकते हैं क्योंकि 18 दिसंबर को कानपुर में पीएम की परिवर्तन रैली है। इस रैली के दिन ही जौनपुर में राहुल गांधी जनता के सामने होंगे और वह केंद्र सरकार को बेनकाब करने की पूरी कोशिश करेंगे। इन दोनों के अलावा 18 दिसंबर को लखनऊ में केजरीवाल भी होंगे जिससे माहौल गर्म होना तय है।

ये है कार्यक्रम

18 दिसम्बर को लखनऊ के रिफह-ए-आम क्लब मैदान में होने वाली आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविन्द केजरीवाल की जनसभा है। इसमें 21 जिलों के लोगों को बुलाया गया है। आप के जिला प्रवक्ता महेन्द्र सिंह ने बताया कि केजरीवाल की जनसभा में 25 से 30 हज़ार लोगों के जुटने की संभावना है। इस जनसभा में नोटबंदी पर चर्चा होगी। केंद्र को घेरने की तैयारी की जायेगी।

19 दिसंबर को राहुल गरजेंगे

नोटबंदी मसले पर लगातार नरेन्द्र मोदी को घेरने वाले कांग्रेस के युवराज जौनपुर में 19 दिसंबर को सभा करेंगे। इसमें वह मोदी सरकार को कठघरे में खड़ा कर सरकार की पोल खोलेंगे। वह पीएम के भ्रष्टाचार के सबूत पेश करेंगे। इसके बाद वह 22 दिसंबर को बहराइच में भी रैली करेंगे।

मोदी को परिवर्तन रैली से उम्मीद

18 दिसंबर को कानपुर रैली में मोदी फिर यूपी की जनता के सामने होंगे। इसके बाद वह दो जनवरी को लखनऊ में महारैली को संबोधित करने पहुंचेंगे। उनके यूपी दौरे की वजह से यूपी के सर्द मौसम में विरोधियों के पसीने छूटेंगे।