विदेशमंत्री सुषमा काे किडनी उनका रिश्तेदार देगा

केंद्रमंत्री सुषमा स्वराज के गुर्दे का प्रत्याराेपण इस सप्ताह के अंत अथवा अगले सप्ताह के शुरू में कर दिया जाएगा। बताया जा रहा है कि सुषमा काे उनके रिश्तेदार किड़नी दान करेंगे।

विदेशमंत्री सुषमा काे किडनी उनका रिश्तेदार देगा

केंद्र विदेशमंत्री सुषमा स्वराज के गुर्दे का प्रत्यारोपण इस सप्ताह के अंत अथवा अगले सप्ताह के शुरू में कर दिया जाएगा। इस बाबत किडनी डोनेट के लिए दानदाता भी तैयार हो गया है और सभी आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। हालांकि दानदाता (डोनर) सुषमा स्वराज का प्राइमरी स्तर पर रिश्तेदार के बजाय दूर का रिश्तेदार बताया जा रहा है। एम्स के डाक्टराें मीडिया काे बताया कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज दानदाता जीवित गैरसंबंधी दाता है, यह दाता ऐसा व्यक्ति हो सकता था जो विदेश मंत्री से भावनात्मक रूप से जुड़ा है।

जैसे मित्र, पड़ोसी या फिर करीबी रिश्तेदार। चूंकि सुषमा स्वराज के परिवार में कोई उचित दाता नहीं मिलने की वजह से गैर संबंधी दाता के गुर्दे से प्रत्यारोपण किया जाएगा। इस बाबत दाता और मरीज की सभी आवश्यक जांच कार्य पूरे कर लिए गए हैं। गैरसंबंधी दाता की स्थिति में एचएलए के मिलान संबंधी जांच जरूरी नहीं है। हमने मिलान संबंधी जांच और रक्त की कई जांच की है तथा दोनों को इस प्रक्रिया के लिए फिट पाया गया है।

पिछले20 दिनों से एम्स में भर्ती होने के बावजूद सुषमा स्वराज कार्य कर रही हैं। सोशल मीडिया से देशवासियों से जुड़ी हैं। दो दिन पहले एम्स की छात्रा गीता ने ऑस्ट्रेलिया में शोध पत्र प्रस्तुत करने के लिए वीसा दिलाने में सहयोग करने की अपील की। गीता की अपील पर सुषमा स्वराज ने ट्वीट के जरिए कहा कि मैं एम्स में भर्ती हूं, मुझसे आकर मिलो, मैं पूरी कोशिश करूंगी।

विदेशमंत्री का गुर्दा प्रत्यारोपण डॉ.बीके बंसल की टीम करेगी। आपकाे बता दें कि सुषमा स्वराज काे लंबे समय से मधुमेह रोग, रक्तचाप और किडनी रोग से पीड़ित हैं, लंबी बीमारी की वजह से उनके गुर्दे काम करना बंद कर दिए हैं और अब उन्हें डायलिसिस पर रखा गया है। पिछले महीने 16 नवंबर को विदेश मंत्री ने खुद इस बाबत सोशल मीडिया ट्विटर पर ट्वीट के जरिए जानकारी दी थी कि वह गुर्दे के काम करना बंद होने की वजह से एम्स में भर्ती हैं।