रिलायंस "JIO" के फ्री ऑफर पर ट्राई ने मांगा स्पष्टीकरण

रिलायंस जियो ने फ्री कॉल और डेटा प्लान की अवधि बढ़ाई है। इस पर टेलिकॉम रेगुलेटर ऑथॉर्टी आॅफ इंडिया (ट्राई) ने कंपनी से मामले पर स्पष्टीकरण मांगा है।

रिलायंस "JIO" के फ्री ऑफर पर ट्राई ने मांगा स्पष्टीकरण

रिलायंस जियो ने फ्री क्रॉल और डेटा प्लान की अवधि बढ़ाई है। इस पर टेलिकॉम रेगुलेटर ऑथॉर्टी आॅफ इंडिया (ट्राई) ने कंपनी से इस मामले काे लेकर स्पष्टीकरण मांगा है।

आपकाे बता दें कि रिलायंस जिया्े ने जो फ्री कॉल और डेटा यूज करने की सुविधा अपने कस्टमर्स को दी थी, वह 3 दिसंबर को खत्म हो गई थी। आमतौर पर यह सुविधा 90 दिनों के लिए रहती है। लेकिन कंपनी ने 'हैपी न्यू ईयर' के ऑफर के तहत इसकी टाइम लिमिट बढ़ा दी। जियाे के नए प्लान का रिव्यू करते हुए 20 दिसंबर को लिखे अपने एक लेटर में ट्राई ने रिलायंस से सवाल किया है कि कंपनी यह स्पष्ट करे कि उसके इस ऑफर को नियमों का उल्लंघन करने वाला क्यों न माना जाए।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले से जुड़े करीबी सूत्रों ने बताया है कि ट्राई के इस लेटर में साफ लिखा गया है कि 18 दिसंबर को जियाे के करीब 63 मिलियन यूजर्स हो चुके हैं और इस तरह दिसंबर के अंत तक कंपनी ब्रॉडब्रैंड मार्केट में अपनी मजबूत जगह बना लेगी।

वहीं एक अन्य सोर्स ने बताया कि ट्राई के साथ अपनी मीटिंग में जियाे के अधिकारियों ने बताया है कि जियो का 'हैपी न्यू ऑफर' इसके वेलकम ऑफर से एकदम अलग है। उस ऑफर में कंपनी ने रोजाना 4 जीबी डेटा फ्री दिया था, जबकि नए साल के लिए ऑफर फेयर यूसेज पॉलिसी के तहत 1 जीबी का है। पहले वाले ऑफर में कोई चार्ज नहीं लिया जा रहा था जबकि नए ऑफर में निर्धारित स्पीड और डेटा के लिए यूजर रिचार्ज करवा सकता है। वहीं रिलायंस के पास अभी मार्केट का 6 फीसदी हिस्सा है जबकि कॉम्प‍िटीशन कमीशन ऑफ इंडिया (सीसीआई) के मुताबिक, नियमों का उल्लंघन तब होता, अगर यह हिस्सा 30 फीसदी होता।