आरक्षण के नाम पर लोगों की आंखों में धूल झोंक रही सपा सरकार: मायावती

बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने प्रदेश की सपा सरकार पर निशाना साधा है। मायावती ने कहा कि पूरे शासनकाल के दौरान अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) की एक विशेष जाति यादव समाज को छोड़कर सभी अन्य पिछड़ी जातियों की उपेक्षा और अनदेखी की गई।

आरक्षण के नाम पर लोगों की आंखों में धूल झोंक रही सपा सरकार: मायावती

बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने प्रदेश की सपा सरकार पर निशाना साधा है। मायावती ने कहा कि पूरे शासनकाल के दौरान अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) की एक विशेष जाति यादव समाज को छोड़कर सभी अन्य पिछड़ी जातियों की उपेक्षा और अनदेखी की गई।

उन्होंने कहा कि अब प्रदेश में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले उन्हें उसी तरह गुमराह करने की कोशिश की जा रही है, जैसी वर्ष 2005 में सपा सरकार द्वारा की गई थी। इस कदम के कारण ही ये 17 जातियां ओबीसी कोटे के लाभ से भी वंचित हो गई थीं।

मायावती ने कहा कि सपा सरकार ने अन्य पिछड़ा वर्ग की 17 जातियों को ओबीसी वर्ग से निकालकर अनुसूचित जाति (एससी) में शामिल करने का जो फैसला लिया है, वह केवल इन वर्गों के लोगों की आँखों में धूल झोंकने का प्रयास है। यह खोखला और हवाई चुनावी हथकण्डा है।

उन्होंने कहा कि कानूनी तौर से यह फैसला एकतरफा और गलत है क्योंकि अनुसूचित जाति (एससी) की सूची में किसी भी जाति को शामिल करने या हटाने का अधिकार किसी राज्य की विधानसभा और राज्य सरकार के पास नहीं है।

मायावती ने कहा कि मुलायम सिंह यादव ने अक्टूबर 2005 में जब ओबीसी की 17 जातियों को एससी की सूची में शामिल करने का फैसला लिया था, तब वे जातियां न एससी में शामिल हो पायीं थी और न ही उनका नाम ओबीसी सूची में रह पाया था। इस फैसले के कारण ये जातियां आरक्षण की सुविधा से ही वांचित हो गयी थीं।