संघ ने की मुसलमानाें से गुप्त मुलाकात

आगामी यूपी चुनाव काे लेकर आरएसएस आैर यूपी के मुस्लिम उलेमाआें आैर मुस्लिम बुद्धिजीवियों के साथ एक गुप्त मीटिंग रखी गई...

संघ ने की मुसलमानाें से गुप्त मुलाकात

आगामी यूपी चुनाव काे लेकर आरएसएस आैर यूपी के मुस्लिम उलेमाआें आैर मुस्लिम बुद्धिजीवियों के साथ एक गुप्त मीटिंग रखी गई। यह मीटिंग हरियाणा भवन में बीते शुक्रवार काे हुआ। इस मीटिंग में आरएसएस प्रमुख माेहन भागवत ने कहा कि मुसलमानाें पर हाे रहे हिंसा आैर अत्याचार के पिछे आरएसएस का काेई हाथ नहीं है आैर नहीं बीफ आैर गाै रक्षा के नाम पर आतंक फैलाना है। भागवत ने यह भी कहा कि यूपी के दादरी में पिछले वर्ष हुए अखलाख की हत्या के पिछे भी आरएसएस की कोई साजिश नहीं थी।

इस मलाकात के दाैरान भागवत कहा कि मुसलमानाें काे माेदी सरकार काे समर्थन करना चाहिए आैर साेशल मीडिया पर माेदी की प्रशंसा भी करनी चाहिए साथ ही  सकरात्मक तरीके से सरकार का प्रचार भी करें।

वहीं पर इस मीटिंग में माैजूद सभी मुसलामाें काे आश्वासन देते हुए यह कहा गया कि केंद्र सरकार  या भाजपा शासित राज्य दाेनाें में मुसलमानाें काे केबिनेट में जगह आैर मंत्री पद का भार भी दिया जाएगा। उन्होंने यह भी आश्वासन दिया था कि ट्रिपल तलाक और समान नागरिक संहिता पर गाैर किया जाएगा।

मुसलमानों को भी कहा गया है कि अगर उनके गैर सरकारी संगठनों काे विदेशी अंशदान नियमन अधिनियम के तहत फंड़ काे बंद कर दिया है, ताे संघ इस व्यक्तिगत मामलों को साफ करने के लिए सरकार बात करेगा।

जब कुछ प्रतिभागियों ने जाकिर नाइक और उनके गैर सरकारी संगठन, इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के खिलाफ चल रहे जांच के बारे में पूछा,ताे उन्हें बताया  कि संघ सरकार की जांच रिपोर्ट में आने के लिए इंतजार कर रहा है। आरएसएस ने यह भी कहा है कि जाकिर नाइक पूरी जांच करने में अधिकारियों की मदद नहीं कर रहा है।

इस मीटिंग में माेहन भागवत के अलावा वरिष्ठ संघ पदाधिकारी इंद्रेश कुमार विचार-विमर्श में भाग लिया। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर इस बैठक के आए थे। लेकिन वह माेहन भागवत से, नहीं  मिल सकें। इस मीटिंग में जी ग्रुप के चेयरमैन सुभाष चंद्रा आैर हरियाणा के जाट समुदायक के प्रतिनिधी भी मौजूद थे।