बुलंदशहर गैंगरेप: सुप्रीम कोर्ट में आजम खान की बिना शर्त माफी मंजूर

बुलंदशहर गैंगरेप मामले में गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री आजम खान की बिना शर्त माफ़ी मंजूर कर ली है।

बुलंदशहर गैंगरेप: सुप्रीम कोर्ट में आजम खान की बिना शर्त माफी मंजूर

बुलंदशहर गैंगरेप मामले में गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री आजम खान की बिना शर्त माफ़ी मंजूर कर ली । गौरतलब है कि 17 नवम्बर को हुई सुनवाई में आजम खान की ओर से दाखिल किए गए माफीनामे के ड्राफ्ट हलफनामे पर केंद्र सरकार के अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने सवाल उठाया था.

रोहतगी ने कहा था कि आजम खान द्वारा दाखिल माफीनामे के ड्राफ्ट हलफनामे की भाषाशैली ठीक नहीं है. उन्होंने कहा था कि आजम ने बिना शर्त माफी मांगने की बात कही थी, लेकिन इस ड्राफ्ट हलफनामे में उन्होंने ऐसे शब्दों का प्रयोग किया है जो बिना शर्त माफ़ी नहीं लग रही.

इसके बाद जज ने आजम के वकील कपिल सिब्बल से पूछा कि माफीनामा में किंतु और परंतु जैसे शब्द इस्‍तेमाल क्यों किए गए हैं. कोर्ट का कहना था कि माफीनामा सिर्फ माफी होता है.

जिसके बाद कोर्ट ने सिब्‍बल को दोबारा हलफनामा दायर करने के लिए 12 दिसंबर तक का समय दिया था.

गुरुवार को हुई सुनवाई में जस्टिस दीपक मिश्रा और जस्टिस अमित्व रॉय ने आजम के माफीनामे को स्वीकार कर लिया.

वहीं सुप्रीम कोर्ट ने कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा कि रेप जैसे अपराधों पर नेताओं का गैर-जिम्मेदाराना तरीके से बयानबाजी करना ठीक नहीं है.

बता दें पीड़िता के पिता ने आजम के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी.

गौरतलब है कि कैबिनेट मंत्री आजम खान ने बुलंदशहर गैंगरेप की घटना राजनीतिक साजिश करार दिया था. वहीं उन्होंने कहा था कि यूपी में सत्ता पाने के लिए बेचैन विपक्षी दल सरकार को बदनाम करने के लिए किसी हद तक गिर सकते हैं.