फर्जी खातों पर आरबीआई की नज़रें तेज

अगर आपने बैंक खाते में 2 लाख रुपए जमा किए हैं या आपके खाते में 5 लाख से ज्यादा बैलेंस है तो होगी केवाईसी जांच।

फर्जी खातों पर आरबीआई की नज़रें तेज

देश में नोटबंदी के बाद अगर आपने बैंक खाते में 2 लाख रुपए जमा किए हैं या आपके खाते में 5 लाख से ज्यादा बैलेंस है तो केवाईसी जांच होगी।अघोषित आय को जमा करने के लिए बैंक खाता का गलत उपयोग करने वालों पर सख्ती के लिए आरबीआई ने नए नियम बनाए हैं।

आरबीआई की नजर अब उन खातों पर है, जिनमें नोटबंदी के बाद 2 लाख रुपए से ज्यादा जमा किए गए और उनमें 5 लाख रुपए से ज्यादा बैलेंस है। आरबीआई ने बताया कि ऐसे खाते जिनमें केवाईसी नियमों का पालन नहीं किया गया, उनसे विद्ड्रॉल या फंड ट्रांसफर पर पाबंदी लगेगी।

गौरतलब है कि सरकार ने कालेधन पर लगाम लगाने के लिए 8 नवंबर को 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों पर बैन लगा दिया था, जिसके बाद से ऐसे कई मामले आए कि फर्जी खाते खुलवाए गए या निष्क्रिय खातों में पैसे गलत तरह से जमा किए गए।

आरबीआई ने बताया कि छोटे खातों से हर महीने पहले की तरह 10 हजार रुपए तक विद्ड्रॉल किया जा सकता है। अगर अकाउंट में 1 लाख रुपए तक जमा किए गए हैं। स्माल अकाउंट का मतलब यहां, जनधन अकाउंट से है। इनमें एक साल में 1 लाख रुपए तक जमा किया जा सकता है।