जयललिता के बाद पार्टी की कमान संभालेंगी शशिकला, महासचिव बनना तय!

जयललिता के निधन के बाद तमिलनाडु में उनके राजनीतिक उत्तराधिकारी को लेकर सरगर्मी तेज हो गई है, इस बीच खबर है कि जयललिता की करीबी शशिकला नटराजन को पार्टी की कमान सौंपी जा सकती है...

जयललिता के बाद पार्टी की कमान संभालेंगी शशिकला, महासचिव बनना तय!

जयललिता के निधनम के बाद तमिलनाडु में उनके राजनीतिक उत्तराधिकारी को लेकर सरगर्मी तेज हो गई है। इस बीच ये अटकलें लगाई जा रही है, कि जयललिता की करीबी शशिकला नटराजन को पार्टी की कमान सौंपी जा सकती है। उन्हें पार्टी का जनरल सेक्रेटरी बनाबबया जा सकता है।

मालूम हो जयललिता के निधन के बाद कल देर रात ओ पन्नीरसेल्वम को तमिलनाडु के सीएम पद की शपथ दिलाई गई थी। ऐसे में साफ है कि पार्टी का चेहरा पन्नीरसेल्वम रहेंगे जबकि पार्टी के अहम निर्णय और बैकडोर पॉलीटिक्स की कमान शशिकला के हाथ में रहेगी।

वहीं पार्टी की कमान शशिकला को सौंपी जाएगी इस बात का अभी तक कोई आधिकारिक ऐलान नहीं हुआ लेकिन मौजूदा हाल और मीडिया में चल रही खबरों की मानें तो शशिकला को पार्टी का जनरल सेक्रेटरी बनाया जाएगा। इस रेस में शशिकला के अलावा थम्मीदुरई भी शामिल हैं लेकिन उनके केंद्र की राजनीति में सक्रीयता के चलते शशिकला का नाम तय बताया जा रहा है.

शशिकला विभिन्न आयोजनों में जयललिता के साथ लगातार नजर आईं, चाहे वह चुनाव प्रचार हो या उनका विशेष वाहन विरोधियों ने शशिकला को ‘जयललिता की परछाई’ तक कहना शुरू कर दिया था। वह एक वीडियो कंपनी मालिक के रूप में 1980 के दशक में जयललिता के संपर्क में आई थीं।

शशिकला को जयललिता बेहद करीबी दोस्त बताया जाता है लेकिन इन दोनों की दोस्ती में एक ऐसा समय भी आया जब शशिकला को जयललिता ने अपने घर से निकाल दिया. लेकिन शशिकला के सार्वजनिक रूप से मांफी मांगने के बाद दोबारा अपने घर में जगह दी. सिर्फ घर में ही नहीं राजनीति में शशिकला की वापसी हुई।