रजनीकांत ने जयललिता की तुलना "कोहिनूर हीरे" से की

साउथ हीरो रजनीकांत ने जयललिता को श्रद्धांजलि अर्पित की, कहा- 'मैंने जयललिता को चोट पहुंचाई, मेरी वजह से उनकी पार्टी हारी'

रजनीकांत ने जयललिता की तुलना "कोहिनूर हीरे" से की

साउथ के सुपर स्टार रजनीकांत ने दिवंगत मुख्यमंत्री जयललिता को श्रद्धांजलि अर्पित की और जयललिता को ‘कोहिनूर हीरा’ बताया जिन्होंने पुरुष प्रधान समाज में मुश्किलों के बीच अपना रास्ता तैयार किया।

जयललिता और कलाकार से पत्रकार बने चो एस रामास्वामी के लिए साउथ इंडियन आर्टिस्ट्स एसोसिएशन या नाडिगर संगम द्वारा आयोजित शोकसभा में रजनीकांत ने 1996 के विधानसभा चुनाव के दौरान जयललिता के खिलाफ इस्तेमाल किए गए अपने कड़े शब्दों को भी याद किया, जिससे उन्हें (जयललिता को) बहुत दुख पहुंचा था।

रजनीकांत ने तत्कालीन अन्नाद्रमुक सरकार की अपनी आलोचना का जिक्र करते हुए कहा कि मैंने उन्हें चोट पहुंचाई। मैं उनकी (पार्टी की) हार की मुख्य वजह था।

रजनीकांत ने तब कहा था कि यदि जयललिता की अन्नाद्रमुक चुनकर फिर सत्ता में आई तो भगवान भी तमिलनाडु को बचा नहीं सकता। तब द्रमुक नीत गठबंधन ने प्रबल सत्ताविरोधी लहर में चुनाव जीता था। रजनीकांत ने अपने पुराने दोस्त रामास्वामी को भी श्रद्धांजलि दी। जयललिता का 5 दिसंबर को निधन हो गया था जबकि रामास्वामी 7 दिसंबर को गुजर गए थे।