अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में सीएम रमन सिंह के बेटे ने किया है बड़ा खेलः आरपीएन सिंह

बीजेपी अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में कांग्रेस का नाम ले रही है, लेकिन सच्चाई तो ये कि इस मामले में बीजेपी का दामन ही दागदार है। पूर्व गृह राज्यमंत्री और कांग्रेस नेता आरपीएन सिंह ने नारदा न्यूज से खास बातचीत में कहा कि अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में बीजेपी के सीएम के बेटे ने बहुत बड़ा खेल किया है।

अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में सीएम रमन सिंह के बेटे ने किया है बड़ा खेलः आरपीएन सिंह

बीजेपी अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में कांग्रेस का नाम ले रही है, लेकिन सच्चाई तो ये कि इस मामले में बीजेपी का दामन ही दागदार है। पूर्व गृह राज्यमंत्री और कांग्रेस नेता आरपीएन सिंह ने नारदा न्यूज से खास बातचीत में कहा कि अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में बीजेपी के सीएम के बेटे ने बहुत बड़ा खेल किया है। उन्होंने नोटबंदी के बाद देश के हालात, कांग्रेस के यूपी प्लान और गठबंधन की संभावनाओं समेत तमाम मुद्दों पर खुलकर बात की। पेश है नारदा न्यूज के पॉलिटिकल एडिटर विकास राज तिवारी और आरपीएन सिंह के बीच बातचीत के मुख्य अंश...

आरपीएन जी पूर्व एयर चीफ एसपी त्यागी की गिरफ्तारी के बाद से अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह का नाम आ रहा है। कांगेस पार्टी तो करप्शन के मामले में पूरी तरह घिर चुकी है। क्या कहेंगे आप ?

करप्शन के नाम पर बीजेपी कांग्रेस को केवल बदनाम करती रही है। ढ़ाई साल हो गये बीजेपी की सरकार को, उन्होंने कितने नेताओं को जेल भेजा है। इनके पास तो कहने को बस एक चीज कि कांग्रेस राज में दलाली चली। जो कि गलत है। दलाली का खेल तो अब पीएम मोदी की सरकार में चल रहा है। छत्तीसगढ़ के सीएम रमन सिंह के बेटे का अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में नाम आया है, उसका अकाउंट पकड़ा गया है। सीधे तौर पर लेन देन की बात हुई है। बीजेपी की सरकार उसकी जांच क्यों नहीं करती। कांग्रेस के किसी नेता का अकाउंट तो अगस्ता वेस्टलैंड मामले में नहीं पकड़ा गया है।

कांग्रेस नोटबंदी का विरोध तो कर रही है लेकिन खुलकर सड़कों पर उतरने की हिम्मत नहीं जुटा पा रही है। क्या विपक्ष पीएम मोदी से डर गया है।



कांग्रेस पार्टी का स्टैंड शुरु से साफ है कि अगर केंद्र सरकार काले धन के खिलाफ कोई एक्शन लेती है तो कांग्रेस पार्टी समर्थन करेगी। हमने ऐसा किया भी है। लेकिन नोटबंदी से कालेकुबेर तो हाथ आ नहीं रहे हैं। बल्कि गरीब जनता परेशान है। हम लगातार संसद में विरोध कर रहे हैं। हम रोजाना सवाल पूछ रहे हैं, मोदी जी सवाल लेना ही नहीं चाहते हैं। कांग्रेस पार्टी किसी तरह की अराजकता नहीं फैलाना चाहती है। हम और हमारी पार्टी तोड़फोड़ में विश्वास नहीं रखती है। हम संसद में, जहां की विरोध करना चाहिए पूरी मजबूती से विरोध कर रहे है। प्रधानमंत्री मोदी घुम-घुम कर कह रहे हैं कि मुझे संसद में बोलने नहीं दिया जा रहा है। प्रधानमंत्री जी आप सत्ता में हैं, आपको बोलने से किसने रोका है। आप जनता को क्यों मूर्ख बना रहे हैं।

जेडीयू नेता शरद यादव ने नारदा न्यूज से खास बातचीत में कहा था कि विपक्ष सही वक्त का इंतजार कर रहा है उनका इशारा बड़े आंदोलन की तरफ था। क्या कांग्रेस पार्टी भी किसी आंदोलन की प्लानिंग कर रही है ?

कांग्रेस पार्टी पहले दिन से ही नोटबंदी के उपजे हालात को लेकर लगातार विरोध कर रही है। नोटबंदी का फैसला बिना सोचे समझे लिया गया है। इससे देश की इकॉनोमी अंधकार में जा रही है। नोटबंदी से सबसे ज्यादा परेशान गरीब लोग है। वो मर रहे है। गरीब ही कुर्बानी दे रहे हैं। अमीर लोग कहां लाइन में लग रहे हैं। बड़े उद्योगपतियों को कहां दिक्कत हो रही है। नोटबंदी ने आम जनता का कबाड़ा कर दिया है और इन सब के पीछे प्रधानमंत्री जी का हाथ है।

यूपी चुनाव में कांग्रेस किस रणनीति के तहत उतर रही है। गठबंधन की संभावनाओं पर आपकी क्या राय है।



यूपी में राहुल गांधी जी ने किसानों का मुद्दा उठाया है। वो किसानों की समस्याओं को सामने ला रहे हैं। किसान लोन माफी से लेकर किसानों की समस्याओं को जानने के लिए कांग्रेस संगठन पूरे यूपी में काम कर रहा है। हम पूरी मजबूती से लड़ाई में हैं। गठबंधन को लेकर बातचीत का दौर जारी है अंतिम फैसला पार्टी के आला नेताओं को करना है।

नारदा न्यूज से बातचीत में पहले आपके साथ रही रीता बहुगुणा जोशी ने कांग्रेस और राहुल गांधी पर सवाल खड़े किए है। आखिर बड़े-बड़े नेता कांग्रेस को बॉय-बॉय क्यों कर रहे हैं ?

चुनावों से पहले ऐसा होता है। रही बात रीता बहुगुणा जोशी की तो वो पहले समाजवादी पार्टी में भी थी। वहां से कांग्रेस आई थी। अब बीजेपी में चली गईं हैं। कांग्रेस पार्टी ने उनको यूपी का अध्यक्ष बनाया था उनके भाई को उत्तराखंड की सीएम बनाया था। पार्टी ने उनके लिए बहुत कुछ किया है। अब उनको लगता है कि बीजेपी में कुछ मिल जाएगा वहां चली गईं हैं। जनता सब कुछ समझती है। चुनावों से पहले आया राम गया राम का खेल चलता है। पूरे देश में लोग कांग्रेस ज्वाइन कर रहे हैं। पंजाब में आम आदमी पार्टी और बीजेपी को छोड़कर नेता कांग्रेस ज्वाइन कर रहे हैं।

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर खून की दलाली करने का आरोप लगाया था जिसके बाद उनके बयान का काफी विरोध हुआ। क्या कहेंगे आप ?

सेना की वीरता और बलिदान की जितनी हम तारीफ करें कम है। वो सेना है जिसकी वजह से हिंदुस्तान के नागरिक अपने घरों में सोते हैं। उस सेना की वीरता और बलिदान पर बीजेपी राजनीति कर रही थी, जिसका हमने विरोध किया। किसी भी पार्टी को भारतीय सेना और सेना के कार्यों पर राजनीति नहीं करनी चाहिए। बेहतर राजनीति के लिए यही मुनासिब होता है।