स्टिंग मामले में CBI ने रावत को जारी किया समन

उत्तराखंड के सीएम हरीश रावत को स्टिंग मामले में सीबीआई ने नोटिस जारी किया है, 26 दिसंबर को हरीश रावत सीबीआई के सामने पेश होंगे।

स्टिंग मामले में CBI ने रावत को जारी किया समन

सियासी संकट के दौरान विधायकों की खरीद-फरोख्त को लेकर सामने आए स्टिंग के मामले में एक बार फिर सीबीआई ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत को समन भेजा है। हरीश रावत से जुड़े एक कथित स्टिंग ऑपरेशन की जांच के सिलसिले में उन्हें 26 दिसंबर को सीबीआई के सामने पेश होने के लिए कहा गया है।

यह दूसरी बार है कि सीबीआई ने हरीश रावत को पिछले सात महीने में दूसरी बार बुलाया है जिससे पहले रावत 24 मई को इस जांच एजेंसी के सामने सामने पेश हुए थे और तब उनसे करीब पांच घंटे तक पूछताछ की गई थी।

सीबीआई ने 29 अप्रैल के कथित स्टिंग ऑपरेशन के सिलसिले में इस मामले में प्राथमिक जांच दर्ज कर थी। इस स्टिंग में रावत उत्तराखंड विधानसभा में शक्ति परीक्षण में उनका समर्थन करने के लिए बागी कांग्रेस विधायकों को रिश्वत की पेशकश करते हुए नज़र आए। यह एक अनोखा मामला है जहां एक वर्तमान मुख्यमंत्री को प्राथमिक जांच की अपनी जांच के सिलसिले में सीबीआई ने बुलाया है। प्राथमिक जांच पहला चरण है जब जांच एजेंसी उसे मिली शिकायत में तथ्यों का सत्यापन करती है।

प्राथमिक जांच के दौरान एजेंसी सामान्य तौर पर व्यक्ति को जांच से जुडऩे का अनुरोध भर करती है, उसे तलब नहीं करती, वह न तो तलाशी करती है और न ही गिरफ्तारी करती है। यदि तथ्यों के सत्यापन में और जांच की जरूरत नजर आती है तो वह प्राथमिकी दर्ज कर सकती है या अन्यथा प्राथमिक जांच को बंद कर सकती है।