बीजेपी में आने को बेताब है यूपी की ठाकुर लॉबी, एक साथ मारेंगे एंट्री

बीजेपी की हवा को देखते हुए सपा और बसपा के कई नेता बीजेपी के संपर्क में हैं। खबरों के मुताबिक राजा भैया और धनंजय सिंह ने राजनाथ सिंह से गुपचुप मुलाकात की है।

बीजेपी में आने को बेताब है यूपी की ठाकुर लॉबी, एक साथ मारेंगे एंट्री

राजनीति में हवा का रुख देखकर फैसले लिए जाते है। नोटबंदी के बाद से यूपी में बीजेपी के पक्ष में हवा दिख रही है। ऐसे में कई यूपी की राजनीति के कई बड़े दिग्गज बीजेपी की तरफ रुख करना चाह रहे है। दरअसल बीजेपी की हवा का रुख बदलता हुआ साफ नजर आ रहा है। जिसके चलते अब सपा और बसपा के कई दिग्गज नेता अपनी बिरादरी के नेता को पकड़कर बीजेपी में शामिल होने का मन बना चुके हैं। खबर है कि ठाकुर लॉबी के बड़े नेता राजनाथ सिंह के जरिेए बीजेपी में एंट्री मारना चाह रह हैं। सूत्रों के मुताबिक सपा और बसपा के इन नेताओं में बाहुबली धंनजय सिंह और प्रतापगढ़ के प्रतापी बाहुबली नेता रघुराज प्रताप सिंह उर्फ़ राजा भैया प्रमुख हैं. बताया जाता है कि बसपा सुप्रीमो बहन मायावती के चंदों की फरमाइश से परेशान जौनपुर के बाहुबली धंनजय सिंह भी पार्टी से भीतर ही भीतर नाराज बताये जाते हैं।

धनंजय सिंह और राजनाथ सिंह की गुपचुप मुलाकात



बसपा पर संकट के बादल मंडराते दिखाई दे रहे हैं।जिसके चलते इस बात की चर्चा जोरों पर चल रही है की धंनजय सिंह केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह का दामन थामकर बीजेपी में शामिल होने का मन बना चुके है. सूत्रों के मुताबिक धंनजय गुपचुप तरीके से राजनाथ सिंह से दो बार मुलाकात भी कर चुके है. लेकिन अभी तक उन्होंने इन मुलाकातों का जिक्र अपने करीबियों से भी नहीं किया है.

सीएम अखिलेश से खफा है राजा भैया

सूत्रों के मुताबिक इसी तरह प्रतापगढ़ के प्रतापी बाहुबली नेता रघुराज प्रताप सिंह उर्फ़ राजा भैया भी राजनाथ सिंह के जरिये सपा छोड़कर बीजेपी में शामिल होने का मन बना चुके है. बताया जाता है कि सीओ जियाउल हक की हत्या से लेकर कई अन्य मामलों में उनकी सीएम अखिलेश यादव से कई बार बहसबाज़ी हो चुकी है. यही नहीं अखिलेश ने उनका मलाईदार विभाग छीनकर उन्हें हाशिये पर रखा है. इसके अलावा कई बार कैबिनेट की बैठक में भी दोनों लोगों के बीच झड़प हो चुकी हैं। जिसको लेकर वो भी केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह का दामन थामकर बीजेपी में शामिल होने का मन बना चुके हैं. इसके अलावा कभी बीजेपी छोड़कर बसपा में शामिल हुए विधायक ओम प्रकाश सिंह भी बीजेपी में शामिल होने का मन बना चुके हैं. लेकिन यूपी में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के कदम रखने के बाद से राजनाथ सिंह का दायर कुछ कम हो गया है. इसकी वजह ये है कि यहां शाह ने अपनी लॉबी बना रखी है. जिसके चलते राजनाथ सिंह की ताकत कुछ कम हुई है. बहरहाल देर सबेर यह ठाकुर लॉबी बीजेपी में अपनी एक साथ एंट्री करेगी.