हमारे मुख्यमंत्री की हत्या का षड्यंत्र - तृणमूल कांग्रेस

तृणमूल कांग्रेस के मंत्री ने कहा- 'यह हमारे मुख्यमंत्री की हत्या का षड्यंत्र था क्योंकि वह नोटबंदी के विरोध में आवाज़ उठा रही हैं।'

हमारे मुख्यमंत्री की हत्या का षड्यंत्र - तृणमूल कांग्रेस

कोलकाता स्थित NSCBI हवाईअड्डे पर बीते बुधवार रात निजी एयरलाइन कंपनी का एक विमान आधे घंटे से ज्यादा समय तक शहर के आसमान में घूमता रहा जिसमें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सवार थीं। इस पर तृणमूल कांग्रेस ने आरोप लगाया कि यह ममता बनर्जी को मारने का एक षड्यंत्र था।

हवाईअड्डा अधिकारियों का कहना है कि विमान ने पटना से निर्धारित समय से एक घंटे देरी से शाम सात बजकर 35 मिनट पर उड़ान भरी और यहां तकनीकी कारणों से आसमान में आधे घंटे से अधिक समय तक चक्कर लगाने के बाद रात 9 बजे से कुछ समय पहले उतर गया। किसी भी हवाईअड्डे पर ऐसी घटना कोई नई बात नहीं है।

तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं राज्य के शहरी विकास मंत्री फिरहद हकीम भी मुख्यमंत्री के साथ उसी विमान में सवार थे। उन्होंने यद्यपि विमान के उतरने के लिए एटीसी से अनुमति मिलने में देरी पर कड़ी आपत्ति जताई और आरोप लगाया कि यह मुख्यमंत्री को मारने का एक षड्यंत्र है। हकीम ने दावा किया कि पायलट ने कोलकाता से 180 किलोमीटर दूर घोषणा की कि विमान पांच मिनट के भीतर उतर जाएगा, लेकिन विमान आधे घंटे से अधिक समय बाद उतरा।

हकीम ने कहा, ‘पायलट ने विमान को उतारने के लिए एटीसी से अनुमति मांगी क्योंकि विमान में ईंधन कम था लेकिन एटीसी ने विमान को रोके रखा। यह हमारे मुख्यमंत्री की हत्या का षड्यंत्र था क्योंकि उन्होंने नोटबंदी के खिलाफ आवाज उठाई है और जनविरोधी निर्णय के खिलाफ जन आंदोलन के लिए देश का दौरा कर रही हैं।’ वहीं, एटीसी एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि उन्हें ऐसी किसी घटना की जानकारी नहीं मिली।

पार्टी के सांसद मुकुल रॉय ने कहा कि जब विमान बुधवार रात को 8.45 मिनट पर लैंड हुआ तो एयरपोर्ट पर एंबुलेंस और फायर इंजन तैनात थे। मुझे बताया गया कि विमान में ईंधन कम होने की वजह से ऐसा किया गया है। एयर ट्रैफिक इस बात से इनकार कर रहा है कि उन्हें पायलट ने कम ईंधन होने की बात नहीं बताई थी। इसलिए टूरिज्म एंड एविएशन की पार्लियामेंट स्टैंडिंग कमेटी के चेयरमैन होने के नाते मैं सिविल एविएशन मिनिस्टर और एयरपोर्ट अथॉरिटी के चेयरमैने को इस मामले की जांच करने के लिए कहूंगा।