कंपनी ने नहीं किया नियमों का उल्लंघन- रिलायंस जियो

टेलिकॉम कंपनी रिलायंस जिओ ने भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण यानि ट्राई को नियमों के उल्लंघन मामले को लेकर जवाब दिया है।

कंपनी ने नहीं किया नियमों का उल्लंघन- रिलायंस जियो

टेलिकॉम कंपनी रिलायंस जिओ ने भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण यानि ट्राई को नियमों के उल्लंघन मामले को लेकर जवाब दिया है। जिओ ने कहा है कि वो वायॅस और डाटा पेशकश के मौजूदा नियमनों का उल्लंघन नहीं करती हैं। इन नियमनों के तहत प्रचार के लिए किसी तरह की पेशकश की अवधि 90 दिन की हो सकती है। और वेलकम ऑफर को भी नियमनों के आधार पर 4 दिसंबर खत्म कर दिया गया था।

90 दिनों बाद वेलकम ऑफर किया खत्म:

कंपनी ने 90 दिनों के बाद वेलकम ऑफर को खत्म कर दिया था। जिसके बाद हैप्पी न्यू ईयर प्लान जारी किया गया। इस मामले को देखते हुए जिओ ने ट्राई को अपनी हैपी न्यू ईयर पेशकश के बारे में विस्तार से नोट भेजा है। इस नोट में बताया गया है कि उसका हैप्पी न्यू ईयर प्लान, वेलकम ऑफर से कैसे अलग है

आपको बता दें कि ट्राई ने 20 दिसंबर को जिओ को एक पत्र भेजा था। जिसमें पूछा गया था कि क्यों न उसकी हैपी न्यू ईयर पेशकश को नियामकीय दिशानिर्देशों का उल्लंघन माना जाए।

एयरेटल ने ट्राई पर लगाए आरोप:

एयरटेल ने आरोप लगाया कि ट्राई, जिओ के नियम उल्लंघन को लेकर किसी तरह की प्रतिक्रिया नहीं दे रहा है। जिओ की फ्री सर्विसेस के चलते कॉल्स की संख्या काफी बढ़ गई है। जिसके चलते एयरटेल के नेटवर्क पर भी असर पड़ रहा है। साथ ही एयरटेल ने यह भी कहा है कि फ्री सर्विस को चालू रखना ट्राई के निर्देशों, टैरिफ ऑर्डर और नियमन का खुला उल्लंघन है। आपको बता दें कि ट्राई ने जिओ की फ्री सर्विसेस को 90 दिन बाद भी जारी रखने की अनुमति दे दी है।