नोट बदलने के आरोप में रेलवे अधिकारी पर CBI का शिकंजा

नोट बदलने के आरोप में सीबीआई ने रेलवे कर्मचारी पर कसा शिकंजा, कर्मचारी के खिलाफ केस दर्ज ।

नोट बदलने के आरोप में रेलवे अधिकारी पर CBI का शिकंजा

नोटबंदी के बाद कालेधन को सफेद करने के खेल में खुद सरकारी महकमे के कर्मचारी भी लगे हुए हैं। बैंक कर्मचारियों की मिलीभगत और गिरफ्तारी के बाद अब रेलवे ऑफिसर्स की मिलीभगत का भी खुलासा हुआ है। इस संदर्भ में सीबीआई ने मुंबई के एक रेलवे कर्मचारी पर केस भी दर्ज कराया है।

एक सहायक वाणिज्य प्रबंधक पर कथित तौर पर 8.22 लाख रुपये को 2000 के नए नोटों में बदलने का मामला दर्ज किया है। सीएसटी मुंबई के बुकिंग काउंटर पर और ठाणे जिले के कल्याण में 8.22 लाख रुपये की राशि (पुराने नोटों में) को 2000 और 100 के नोटों में बदला था।

सीएसटी मुंबई में रेलवे की विजिलेंस विंग के महाप्रबंधक दफ्तर का एक टॉप सीक्रेट लेटर तक पहुंचा। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक रिजर्वेशन काउंटर, बुकिंग ऑफिस, पार्सल दफ्तर और कैश ऑफिस के कुछ स्टाफ ने पुराने नोटों का हिसाब-किताब ठीक से नहीं रखा है। इसकी वजह कालाधन सफेद करने की नीयत हो सकती है।

दरअसल, नोटबंदी के बाद रेलवे के रिजर्वेशन काउंटर और इन दफ्तरों में 10 रुपये, 50 रुपए और 100 रुपए की पर्याप्त करेंसी पहुंचाई गई थी, ताकि लोगों को किसी प्रकार की कोई परेशानी ना हो। लेकिन कुछ सीनियर अफसरों ने इसके जरिए कालेधन को सफेद करने का खेल शुरू कर दिया।