मुझे संसद में नहीं बोलने दिया जा रहा- पीएम मोदी

पीएम माेदी ने आज शनिवार को गुजरात के डीसा मेंं एक दुग्ध प्लांट का उद्घाटन कर इसको देश को समर्पित किया, इस दौरान सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा मुझे संसद में नहीं बोलने दिया जा रहा...

मुझे संसद में नहीं बोलने दिया जा रहा- पीएम मोदी

पीएम माेदी ने आज शनिवार को गुजरात के डीसा मेंं एक दुग्ध प्लांट का उद्घाटन कर इसको देश को समर्पित किया। इसके अलावा उन्होंने एक चीज़ प्लांट का भी उद्घाटन किया। इस दौरान गूजरात की जनता को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा है कि ‘मुझे लोकसभा में बोलने नहीं दिया जा रहा है।’ पीएम कहा, ‘सरकार कहती है कि पीएम बोलने के लिए तैयार हैं। लेकिन उनको मालूम है उनका झूठ टिक नहीं पाता है। इसलिए वो चर्चा से भाग जाते हैं। इसलिए उन्होंने लोकसभा में बोलने नहीं दिया गया इसलिए मैंने जनसभा में बोलने का निर्णय लिया।’ उन्होंने कहा, ‘नोटबंदी के खिलाफ कोई पार्टी नहीं, विरोधी सिर्फ तरीके पर सवाल उठा रहे हैं. राजनीति से ऊपर राष्ट्रनीति होती है, दल से बड़ा देश होता है.’

बता दें,  उन्होंने इस मौके पर यहां पर दूध का उत्पादन शुरू करने वाले जलवाभाई की भी जमकर प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि उनका ही लगाया पौधा आज बढ़कर बरगद का पेड़ बन गया है जिससे हजारों हाथों को काम मिल रहा है। उन्हेांने यह भी कहा कि पहले जब यहां से लोग दूसरे प्रदेशों में जाकर व्यवसाए करते थे तो उनमें से ज्यादातर कच्छ जैसे इलाकों से होते थे। लेकिन उन्होंने वहां पर कामयाबी के झंडे गाड़े। उन्होंने कहा कि जब नर्मदा इस धरती को छुएगी तो यहां पर भी विकास की लहर दौड़ जाएगी।

पीएम मादी इस अवसर पर बनासकांठा के किसानों की भी जमकर प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि यहां के किसानों ने आलू की पैदावर में जो रिकार्ड बनाया है उसको वर्षों तक कोई नहीं तोड़ पाएगा। पीएम मोदी ने यहां पर राज्य की महिलाओं की भी प्रशंसा की जिन्होंने राज्य के विकास में कंधे से कंधा मिलाकर योगदान किया। उन्होंने कहा कि यहां पर दूध की क्रांति हुई अब यहां पर शहद क्रांति सामने आने वाली है।

गांधीनगर हैलिपैड से वो बीजेपी के प्रदेश मुख्यालय कमलम जाएंगे, जहां दोपहर बाद 1.30 से 3 बजे के बीच वो पार्टी के प्रमुख अधिकारियों से मिलेंगे, जिसमें गुजरात बीजेपी के सभी विधायकों के अलावा प्रदेश इकाई और सभी जिला इकाइयों से जुड़े अधिकारी होंगे। राज्य के तमाम बोर्ड और निगमों के अध्यक्षों और उपाध्यक्षों को भी इस बैठक के लिए आमंत्रित किया गया है। मोदी इन सभी को संबोधित करेंगे।

आपकाे बतादें कि प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के बाद ये पहला मौका होगा, जब मोदी बीजेपी के गुजरात मुख्यालय में पार्टी के प्रमुख नेताओं और कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित करने वाले हैं, जिसे स्नेह मिलन का नाम दिया गया है।