ट्रंप के परमाणु क्षमता बढ़ाने के आह्वान से चीन परेशान

अमेरिका की परमाणु क्षमता को मजबूत करने के डोनाल्ड ट्रंप के आह्वान को लेकर चीन परेशान है।

ट्रंप के परमाणु क्षमता बढ़ाने के आह्वान से चीन परेशान

अमेरिका की परमाणु क्षमता को मजबूत करने के डोनाल्ड ट्रंप के आह्वान को लेकर चीन परेशान है। अंतराष्ट्रीय मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि ‘हम चिंतित हैं। मैं निरस्त्रीकरण को लेकर चीन के रूख पर दोबारा जोर देती हूं। हम परमाणु हथियारों के पूर्ण निषेध एवं विनाश का समर्थन करते हैं।

चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ट्रंप द्वारा कल किए गए ट्वीट पर प्रतिक्रिया दे रही थीं, जिसमें निर्वाचित राष्ट्रपति ने अपनी बात पूरी तरह साफ किए बिना कहा था कि जब तक परमाणु हथियारों के मामले में दुनिया को सद्बुद्धि नहीं आ जाती, तब तक अमेरिका को अपनी परमाणु क्षमताओं को काफी मजबूती और विस्तार देना चाहिए।

मीडिया के सवाल पूछे जाने पर कि क्या ट्रंप की इस टिप्पणी से अमेरिका, रूस और चीन के बीच परमाणु हथियारों की होड़ शुरू हो सकती है। प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि सबसे ज्यादा परमाणु आयुध वाले देश को परमाणु निरस्त्रीकरण में खास जिम्मेदारी लेनी चाहिए। इसके अनुकूल दिशाएं तैयार करने की खातिर परमाणु आयुध में नाटकीय रूप से कमी लाने का नेतृत्व करना चाहिए। बता दें कि 7 हजार से अधिक परमाणु हथियारों के साथ अमेरिका के पास परमाणु हथियारों का सबसे बड़ा जखीरा है और उसके बाद रूस, ब्रिटेन, फ्रांस और चीन आते हैं।