यूपी: सिपाही भर्ती में मार्कशीट अमान्य किए जाने को हाईकोर्ट में चुनौती

यूपी में 2015 से 28,916 पदों पर चल रही सिपाही भर्ती में चयनित अभ्यर्थियों के हाईस्कूल और इण्टरमीडिएट के मार्कशीट-सर्टिफिकेट अमान्य किए जाने की वैधता को इलाहाबाद हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है।

यूपी: सिपाही भर्ती में मार्कशीट अमान्य किए जाने को हाईकोर्ट में चुनौती

यूपी में 2015 से 28,916 पदों पर चल रही सिपाही भर्ती में चयनित अभ्यर्थियों के हाईस्कूल और इण्टरमीडिएट के मार्कशीट-सर्टिफिकेट अमान्य किए जाने की वैधता को इलाहाबाद हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चयनित सैकड़ों अभ्यर्थियों की तरफ से दाखिल इस याचिका पर सुनवाई करते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रदेश सरकार से दो हफ्ते में जबाब मांगा है। इसके साथ ही कोर्ट ने प्रदेश सरकार से सवाल किया है कि देश भर में यूपी बोर्ड के समकक्ष कौन-कौन से बोर्ड आते हैं। इसकी पूरी जानकारी प्रदेश सरकार कोर्ट को उपलब्ध कराये।

बता दें कि याचिकाकर्ता सर्वेन्द्र कुमार और अन्य के साथ ही सैकड़ों चयनित अभ्यर्थियों की याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस सुनीता अग्रवाल की एकलपीठ ने ये आदेश दिया है।

गौरतलब है कि यूपी पुलिस भर्ती में ऐसे सैकड़ों अभ्यर्थी चयनित हो गए थे, जिन्होंने हाई स्कूल और इण्टर की परीक्षा यूपी बोर्ड के बजाय अन्य बोर्ड से उत्तीर्ण की थी। ऐसे अभ्यर्थियों को बाद में भर्ती प्रक्रिया के आखिरी चरण फिजिकल स्टैण्डर्ड टेस्ट और दस्तावेज जांच में बाहर कर दिया गया था।