नोटबंदी पर संसद में हंगामा, बीजेपी ने लगाया विपक्ष पर चर्चा ना करने का आरोप

नोटबंदी पर संसद में हंगामा, जेटली बोले- सिर्फ TV कवरेज के लिए मुद्दा उठाया जा रहा, हिम्मत है तो चर्चा करे विपक्ष..

नोटबंदी पर संसद में हंगामा, बीजेपी ने लगाया विपक्ष पर चर्चा ना करने का आरोप

नोटबंदी पर लगातार हंगामा हो रहा है। बुधवार को भी संसद शुरू होते ही दोनों सदनों में हंगामा हुआ।  गुलाम नबी आजाद ने कहा, ''देश को लाइन में लगा दिया गया है। 84 लोगों की मौत हुई है। इसकी किसी को तो जिम्मेदारी लेनी होगी।'' जवाब में अरुण जेटली ने कहा, ''हिम्मत है तो विपक्ष चर्चा करे।'' नारेबाजी के बीच सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई।


वहीं लोकसभा में विपक्ष चर्चा की मांग कर रहा है। सरकार राजी है, पर विपक्ष वोटिंग के नियम के तहत चर्चा चाहता है। मोदी संसद में स्पीच दे सकते हैं।




बीजेपी की मीटिंग में मोदी ने कहा


- संसद में बीजेपी पार्लियामेंट्री पार्टी की भी मीटिंग हुई।

- इसमें नरेंद्र मोदी ने कहा, ''मतदान के समय देश में ईवीएम के बारे में जैसे प्रचार होता है, ठीक उसी तरह कैशलेस


जेटली ने कहा- हिम्मत है तो चर्चा करे विपक्ष
- राज्यसभा में सदन के नेता अरुण जेटली ने कहा, ''नोटबंदी पर चर्चा हुई है, विपक्ष ने जो मांगें की, उसे हमने पूरा किया है। उन्होंने पीएम को बुलाने की मांग की। वे सदन में आए।''


अनंत कुमार ने कहा- चर्चा से भाग रहा है विपक्ष

- ''राज्यसभा में चर्चा शुरू भी हो गई है। पीएम के आने की बात की। पीएम गए भी।''
- ''पर विपक्ष चर्चा के लिए तैयार नहीं है।''



रेवेन्यू सेक्रेटरी ने क्या कहा..

रेवेन्यू सेक्रेटरी हसमुख अधिया के अनुसार, सरकार को उम्मीद है कि नोटबंदी की घोषणा के बाद 500 और 1000 रुपये के पुराने सभी नोट बैंक में जमा हो जाए ताकि लेन-देन और टैक्स के रूप में काले धन के मालिकों पर निगाह रखी जा सके। 500 और 1000 रुपए के नोट में 14.17 लाख करोड़ रुपये की कुल रकम का सर्कुलेशन हो रहा था। ऐसा मानना था कि सर्कुलेशन की कुल रकम में से 2.5 लाख करोड़ रुपये दोबारा सिस्टम में नहीं आएंगे।






 मायावती ने कहा- तानाशाह रवैया छोड़कर फैसला वापस लें मोदी
- मायावती ने कहा, ''जनता को परेशान किया जा रहा है। करप्शन के खिलाफ हम भी हैं, लेकिन मोदी ने इसे इज्जत का मुद्दा बना लिया है।''