उत्तराखंडः नशे और भ्रष्टाचार के खिलाफ मैराथन का आयोजन, हजारों लोग दौड़े

उत्तराखंड में नशे और भ्रष्टाचार के खिलाफ मैराथन में भाग लेने वाले पुरूष वर्ग से शंकर भान और महिला वर्ग से लखनऊ की मोनिका चौधरी ने स्वर्ण पदक जीता...

उत्तराखंडः नशे और भ्रष्टाचार के खिलाफ मैराथन का आयोजन, हजारों लोग दौड़े

उत्तराखंड में ड्रग्स और भ्रष्टाचार के खिलाफ देहरादून पुलिस ने एक मैराथन आयोजित किया है। जिसमें बजुर्ग, जवान, और बच्चों ने पूरे जोश के साथ हिस्सा लिया और दौड़ लगाई। इस मैराथन में पुरूष वर्ग से शंकर भान और महिला वर्ग से लखनऊ की मोनिका चौधरी ने स्वर्ण पदक जीता दोनों ही विजेताओं को इनाम के तौर पर एक-एक लाख रूपए का चेक नाम दिया गया।

बता दें कि ये मैराथन 21 किमी पुलिस लाइन से शुरू होकर आराघर टी जंक्शन, ईसी रोड, सर्वे चौक, बेनी बाजार, यूकेलिप्टस चौक, दिलाराम चौक, ग्रेट वैल्यू, केनाल रोड, श्री हनुमान जी बालाजी मंदिर होते हुए वापस इसी मार्ग यानि पुलिस लाइन में संपन्न हुई। पहली बार देहरादून पुलिस की तरफ से देहरादून पुलिस लाइन में ऐसे मैराथन का आयोजन किया गया। 21 किलो मीटर मैराथन में पुरुष वर्ग में शंकर मान थापा को गोल्ड दिया गया। इसके साथ ही एक लाख रूपये के चेक भी दिया गया। महिला वर्ग में लखनऊ की मोनिका चौधरी को गोल्ड और 1 लाख रूपये का चेक मिला।

गौरतलब है कि 21 किलो मीटर मैराथन में पुरुष वर्ग में बलिया के अनिल कुमार को सिल्वर और महिला वर्ग में पंजाब की अमनदीप कौर को सिल्वर मेडल मिला। पुरुष वर्ग में हरी सिंह को ‌ब्रांज और महिला वर्ग में अर्पित को ब्रांज मेडल मिला। सीएम रावत ने कहा कि यह मैराथन भ्रष्टाचार और नशे के खिलाफ है। मैराथन में भारी संख्या में प्रतिभागी मौजूद रहे। इस दौरान हरीश रावत की मौजदगी में मोदी-मोदी के नारे भी लगे। वहीं सात किलोमीटर रेस में उत्तराखंड पुलिस के मुकेश रावत और महिला वर्ग में गाजियाबाद की नेहा को गोल्ड, पोंटा साहिब के पंकज और शामली की नेहा पंवार को सिल्वर, काशीपुर के रोहन और जयंती थपलियाल को ‌ब्रांज मेडल मिला।

इतना ही नहीं सात किलोमीटर जूनियर वर्ग रेस में महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कॉलेज के सुभम राणा और खटीमा की पार्वती को गोल्ड, महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कॉलेज के पवन कुमार और खटीमा की प्रियंका की सिल्वर और इसी कॉलेज के अनूप कुमार और सुल्तान को ब्रांज मेडल मिला। सात किलोमीटर 45 प्लस वर्ग में राज कुमार और महिला वर्ग में विजया चौधरी को गोल्ड, जितेंद्र गुप्ता और शशि बडोला को सिल्‍वर, मनोज कुमार और अल्का नंदा को ब्रांज मेडल मिला। वहीं पुलिस विभाग की तमाम योजनाएं इस दौरान फेल नजर आए। अव्यवस्‍था के चलते मैराथन में कुछ बच्चे घायल हो गए।​मुख्यमंत्री हरीश रावत ने विजेताओं को पदक और चेक देकर सम्मानित किया। इस दौरान बॉलीवुड सिंगर जुबिन नौटियाल ने मनमोहक प्रस्तुति देकर प्रतिभागियों को जोश से भर दिया।