अलेप्पो में विद्रोहियों ने 21 लोगों को उतारा मौत के घाट

पूर्वी अलेप्पो के सुक्कारी और अल कलासेह में विद्रोहियों की जेल से मिले 21 शव, जिसमें से पांच बच्चों और चार महिलाओं के शव भी शामिल हैं, सभी की गोली मारकर हत्या की गई है।

अलेप्पो में विद्रोहियों ने 21 लोगों को उतारा मौत के घाट

हाल ही में सेना के नियंत्रण में आए सीरियाई शहर अलेप्पो की तबाह गलियों में जगह-जगह बर्बरता के निशान मिल रहे हैं। रूसी रक्षा मंत्रालय ने बताया कि सेना को पूर्वी अलेप्पो में ऐसी सामूहिक कब्रें मिलीं हैं जिनमें शवों पर प्रताड़ना, विकृति और अंगभंग के निशान हैं। विद्रोहियों पर शहर को खाली करने से पहले बच्चों, महिलाओं समेत 21 नागरिकों की हत्या का आरोप है।

रूस और तुर्की के बीच हुए ऐतिहासिक समझौते के तहत पिछले हफ्ते 35 हजार विद्रोहियों और नागरिकों ने पूर्वी अलेप्पो को खाली किया था। सीरिया की सरकारी न्यूज एजेंसी 'सना' ने बताया कि रविवार देर रात पूर्वी अलेप्पो के सुक्कारी और अल कलासेह में विद्रोहियों की जेल से 21 शव मिले हैं।

जिसमें से पांच बच्चों और चार महिलाओं के शव हैं। सभी लोगों की गोली मारकर हत्या की गई है। रूसी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता मेजर जनरल इगोर कोनाशेंकोव का कहना है कि अलेप्पो में ऐसे कई शव मिले हैं जिन पर गोलियों के जख्म हैं।

कोनाशेंकोव ने पूरे शहर में जगह-जगह फंदे और बारूद बिछाकर आम लोगों की जान खतरे में डालने का विद्रोहियों पर आरोप लगाया। निगरानी संगठन सीरियन ऑब्जरवेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स के मुताबिक बीते चार दिनों में ऐसे फंदों में फंस कर करीबन 63 लोग मारे गए हैं।

लंबे समय के बाद सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद सार्वजनिक तौर पर नजर आए। क्रिसमस के मौके पर रविवार को उन्होंने राजधानी दमिश्क के पास एक ईसाई अनाथालय का दौरा किया।

फेसबुक पर पोस्ट तस्वीरों में वे अपनी पत्नी आस्मा के साथ बच्चों और अनाथालय के कर्मचारियों के साथ नजर आए। 2011 में अपनी सत्ता के खिलाफ संघर्ष शुरू होने के बाद से अलेप्पो पर नियंत्रण असद की सबसे बड़ी जीत मानी जा रही है।